बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)।Railway News Bilaspur: बिलासपुर एवं रायपुर मंडल में कार्यरत संरक्षा विभाग के दो कर्मचारियों को उत्कृष्ट व संरक्षा सबंधी कार्य का बेहतर निष्पादन करने के लिए महाप्रबंधक आलोक कुमार के द्वारा सम्मानित किया गया। इस दौरान कोरोना प्रोटोकोल का पूरी तरह पालन किया गया। बिलासपुर रेल मंडल के उमरिया रेलवे स्टेशन में कार्यरत मुख्य मंडल यातायात निरीक्षक राम सिंह मीणा माकड्रिल के दौरान तत्परता दिखाई। दरअसल आठ सितंबर को रेल प्रशासन की ओर से माकड्रिल आयोजित किया गया था। इसमें यह संदेश दिया गया कि स्टाफ कैंपिंग कोच नंबर में आग लग गई है। मुख्य मंडल यातायात निरीक्षक आरपीडी में मौजूद नहीं थे, फिर भी यूएमआर पर आग का संदेश मिलने पर वह तुरंत हरकत में आए। उन्होंने न केवल इसकी सूचना दी, बल्कि तत्काल आवश्यक सहायता भी मांगी।

उनकी सहायत मांगने पर सीएमएस, डब्ल्यूसी रेलवे से एंबुलेंस, अधिकारी, जेकेसीएल के अधिकारी , दमकल , आरपीएफ पोस्ट प्रभारी व जीआरपी पहुंचे। माकड्रिल के बाद भी सजगता एवं सतर्कता का परिचय देते हुए उन्होंने प्रशंसनीय कार्य किया। इसी तरह 31 अगस्त को रायपुर रेल मंडल के बिल्हा रेलवे स्टेशन में कार्यरत पाइंटमैन सूर्य प्रकाश सिंह ने एक मालगाडी के 28वें वैगन के कवर (तारपोलिन) भेजा गया।

कवर करने के बाद और स्टेशन लौटते समय उन्होंने देखा कि लोको से 23वें वैगन का एक्सल बाक्स एडाप्टर अपनी जगह से हट गया है। उन्होंने तत्काल मामले की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी। इस पर कैरेज एंड वैगन के अधिकारी व कर्मचारी पहुंचे। उनकी तत्परता के कारण संभावित दुर्घटना टल गई। इस कार्य के लिए दोनों कर्मचारियों को महाप्रबंधक आलोक कुमार ने प्रशस्ति पत्र दिया।

इस अवसर पर महाप्रबंधक ने दोनों रेलकर्मियों से संवाद भी किया तथा उनके कार्य की जानकारी ली। इस मौके पर अपर महाप्रबंधक विजय प्रताप सिंह, प्रमुख मुख्य संरक्षा अधिकारी अरुण कुमार जैन, महाप्रबंधक के सचिव हिमांशु जैन व मुख्य जनसंपर्क अधिकारी साकेत रंजन उपस्थित थे।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local