बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। विजयादशमी की रात डीजे बजाने की बात पर दो पक्षों में विवाद हो गया। एक पक्ष के दर्जनभर युवकों ने तलवार, राड व लाठी लेकर दूसरे पक्ष पर जानलेवा हमला कर दिया। इससे दो महिलाओं समेत चार लोगों को गंभीर चोट लगी। सिम्स में इलाज के दौरान देर रात एक बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया। सिटी कोतवाली पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार किया। फरार आरोपितों की तलाश चल रही है।

नवरात्र पर फोकटपारा में महिला समिति द्वारा स्थापित मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की गई थी। कतियापारा के शिव चौक के रहने वाले मंगल लोनिया पिता प्रहलाद लोनिया दुर्गा पंडाल का देखरेख कर रहे थे। उनके पिता प्रहलाद लोनिया समिति के सदस्य थे। विजयादशमी के दिन पंडाल पर डीजे बज रहा था। रात 12 बजे मंगल ने डीजे को बंद कर दिया। उसी समय तना उर्फ संतोष यादव, मलखान उर्फ मानस और रवि यादव अपने साथियों के साथ पहुंचे। वे डीजे को फिर शुरू करने का दवाब बनाते हुए विवाद करने लगे। समिति के सदस्य प्रहलाद लोनिया, सुंदरिया यादव, परदेशनीन राजपूत ने रात होने के कारण डीजे नहीं चलाने की की बात कही।

इसको लेकर तना ऊर्फ संतोष यादव, मलखान ऊर्फ मानस, रवि यादव ने अपने साथियों के साथ मिलकर गाली-गलौज करते हुए राड से मंगल के साथ मारपीट की। प्रहलाद लोनिया, परदेशनीन राजपूत और सुंदरिया यादव ने बीच-बचाव किया। तब युवकों ने राड व तलवार से प्रहलाद पर जानलेवा हमला कर दिया। इससे मंगल, प्रहलाद, सुंदरिया और परदेशनीन को चोट आई है। वहां मौजूद लोगों ने घायलों को सिम्स में भर्ती कराया। इलाज के दौरान देर रात प्रहलाद लोनिया(55) की मौत गई। घटना के बाद सभी आरोपित फरार हो गए। मृतक के स्वजन ने घटना की रात कोतवाली थाना का घेराव कर दिया। पुलिस ने सुबह एक आरोपित रवि यादव को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित को न्यायिक रिमांड पर भेज दिया गया है। वहीं, अन्य की तलाश जारी है।

पुलिस ने पीड़ित पक्ष के खिलाफ पहले दर्ज कर लिया अपराध

वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर सिटी कोतवाली थाने पहुंच गए और मारपीट की शिकायत की। पुलिस ने बिना जांच किए मृतक समेत पीड़ित पक्ष के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया। बाद में मृतक के स्वजन हत्या का अपराध दर्ज कराने पहुंचे। तब पुलिस ने जांच करने का हवाला देकर सामान्य मारपीट के तहत ही अपराध दर्ज किया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close