बिलासपुर। जिले में कोरोना महामारी अब नियंत्रित होती दिख रही है। नए मरीजों की संख्या 300 से 400 से घटकर 200 से 300 के बीच पहुंच गई है। बुधवार को भी 267 कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई है। वहीं, एक पाजिटिव की मौत हुई है। तेलीपारा निवासी 76 वर्षीय आरपी नामदेव को 15 जनवरी को सिम्स में कोरोना संक्रमित होते बाद भर्ती कराया गया था। उपचार के बाद भी उसकी हालत में सुधार नहीं आया और 19 जनवरी की दोपहर उसकी मौत हो गई।

पिछले कुछ दिनों से लगातार संक्रमितों की मौत हो रही है। इन सब के बीच राहत की बात यह है कि नए मरीजों की संख्या कम होती जा रही है। 16 जनवरी से लगातार संक्रमण की रफ्तार में कमी आई है। इससे अधिकारियों को भी राहत मिलने लगी है। एक बार फिर जिला कोरोना नियंत्रण की दिशा में बढ़ने लगा है। मामले कम होते देखकर स्वास्थ्य विभाग सैंपलिंग, ट्रीटमेंट, ट्रेसिंग पर जोर दे रहा है। ताकि जल्द से जल्द मरीजों को खोजा जा सके और उनका उपचार कर कोरोना को एक बार फिर पूरी तरह से नियंत्रण में लाया जा सके।

अभी भी बरती जा रही लापरवाही

लोगों की लापरवाही कम होने का नाम नहीं ले रही है। इसने चिंता बढ़ाकर रखी है। जब तक गाइडलाइन का पालन नहीं किया जाएगा, तब तक स्थिति को संभालना बड़ा ही मुश्किल है। इधर लोगों का बेवजह बाहर निकलना जारी है। इनमें से आधे कोरोना गाइडलाइन का अवलेहना करते हुए दिख रहे हैं। यह संक्रमण की रफ्तार को बढ़ाने का काम कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने जिलेवासियों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है।

कोविड अस्पताल में एक मरीज भर्ती

बुधवार को संभागीय कोविड अस्पताल को मरीजों के लिए खोल दिया गया है। जहां पहले कोरोना मरीज को भर्ती किया गया है। यह मरीज कोरबा जिले का रहने वाला है। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि जिन भी मरीजों की हालत बिगड़ रही है, वे तत्काल अस्पताल में भर्ती हो सकते हैं।

जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए सैंपल

सिम्स वायरोलाजी लैब से इस सप्ताह मिले पाजिटिव मरीज में से चार प्रतिशत का सैंपल अलग कर जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भुवनेश्वर स्थित लैब भेजा गया है। जानकारी के मुताबिक इन मरीजों में ओमिक्रोन वैरियंट के लक्षण मिले है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local