बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रेलवे ने यात्रियों की बड़ी सौगात दी है। अब उन्हें करंट रिजर्वेशन के लिए बर्थ की जानकारी लेने भटकना नहीं पड़ेगा। यही नहीं काउंटर के बाहर कतार लगानी की समस्या से मुक्ति मिल गई है। इस सुविधा को सरल करते हुए जोनल स्टेशन के पीआरएस और यूटीएस के काउंटर क्रमांक तीन पर एक इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले लगाया है। जिसमें बिलासपुर से किस ट्रेन में कितनी बर्थ खाली है, इसकी जानकारी नजर आती है। बुधवार से इस व्यवस्था की शुरुआत कर दी गई है।

रेलवे में करंट रिजर्वेशन की सुविधा भी है। इसमें सामान्य रिजर्वेशन के बाद खाली सीट की बुकिंग की जाती है। यह व्यवस्था उन यात्रियों के लिए राहत देने वाली है, जिन्हें अचानक सफर करने की आवश्यकता पड़ती है। ऐसे में वे यहां से वहां भटकते हैं। दलालों के चक्कर में भी फंस जाते हैं। इसके अलावा करंट रिजर्वेशन की सुविधा से यात्री अभी तक वंचित हैं। इसके अलावा जिन्हें जानकारी भी है, तो उन्हें अभी ट्रेनों में खाली बर्थ की जानकारी नहीं मिल पाती थी। काउंटर में लंबी कतार के बाद जब जानकारी लेने की बारी आती, तब तक करंट बुकिंग का समय समाप्त हो जाता था। करंट बुकिंग के तहत संबंधित स्टेशन (जहां से यात्रा शुरू होनी है) से इन खाली बर्थ का रिजर्वेशन साढ़े तीन घंटे के भीतर कराना होता था। ट्रेन पहुंचने के आधे घंटे पहले यह सुविधा बंद हो जाती है। यात्रियों को सही जानकारी में आ रही इसी परेशानी को देखते हुए रेल प्रशासन ने यह निर्णय लिया गया कि अब उन्हें बिना काउंटर में पहुंचे ही इसकी जानकारी दी जाए। इसी के तहत डिस्प्ले बोर्ड लगाया गया।

हिंदी व अंग्रेजी में डिस्प्ले

करंट रिजर्वेशन में उपलब्ध बर्थ की स्थिति बताने के लिए एक प्रारूप के साथ डिस्प्ले होता है। यह जानकारी हिंदी और अंग्रेजी में बकायदा ट्रेनों के नाम के साथ हो रही है। साथ ही श्रेणी में दर्शाया जा रहा है, ताकि यात्री अपनी सुविधानुसार रिजर्वेशन करा सकें। नीचे पट्टी पर यह भी दिखाया जा रहा है कि 30 मिनट पहले आरक्षण टिकट तैयार करें। इसके बाद सुविधा नहीं मिल सकेगी, क्योंकि इस दौरान फाइनल चार्ट जारी होता है।

रेलवे का भी फायदा

करंट रिजर्वेशन की इस सुविधा से यात्रियों के साथ- साथ रेलवे का भी फायदा है। दरअसल सामान्य स्थिति में आरक्षण चार ट्रेन पहुंचने के चार घंटे पहले जारी होता है। इस व्यवस्था के तहत अक्सर यह होता था कि बर्थ खाली रह जाती थी। जिसका टीटीई फायदा उठा लेते थे। खाली बर्थ का रिजर्वेशन होने से रेलवे को राजस्व मिल जाता है।

जानना बेहद जरूरी है

जोनल स्टेशन के आरक्षण केंद्र में रिजर्वेशन की सुविधा रात 10 बजे तक ही मिलती है। इसके बाद यह बंद हो जाता है। लेकिन यात्री चाहे तो इसके बाद भी रिजर्वेशन करा सकते हैं। रेलवे ने यह सुविधा जोनल स्टेशन के जनरल टिकट काउंटर क्रमांक तीन पर दी है। यही वजह है कि एक डिस्प्ले बोर्ड यहां लगाया गया है। इस काउंटर में टिकट रद करने के लिए अलावा रिफंड की सुविधा भी है। जानकारी के अभाव में यात्री इस काउंटर की इस सुविधा का लाभ नहीं ले पाते।