बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। रोड सेफ्टी सेल की ओर से तारबाहर स्थित शेख गफ्फार इंग्लिश मीडियम स्कूल में यातायात जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए रोड सेफ्टी सेल के प्रभारी ने बताया कि सड़क हादसों में प्रभावित होने वालों में 15 से 25 वर्ष के युवा अधिक होते हैं। यातायात नियमों को पालन करने से इन हादसों को कम किया जा सकता है।

रोड सेफ्टी सेल की ओर से तारबाहर स्थित शेख गफ्फार इंग्लिश मीडियम स्कूल में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एसआइ उमाशंकर पांडेय ने बताया कि जागरूकता की कमी से लोग हादसों का शिकार होते हैं। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को यातायात नियमों की जानकारी आवश्यक है। इससे वे सड़क पर सुरक्षित रहेंगे। इसके साथ ही वे दूसरों को भी नियमों की जानकारी देकर जागरूक कर सकते हैं। इससे हादसों में कमी आएगी। इसके अलावा विद्यार्थी भी सुरक्षित रहेंगे।

उन्होंने बताया कि सड़क हादसों के बाद रोड सेफ्टी सेल की टीम मौके पर पहुंचकर घटना के कारणों की जानकारी लेती है। इसमें कई बातें चौकाने वाली होती है। उन्होंने बताया कि कई मामलों में पीड़ित की लापरवाही ही दुर्घटना का कारण बनता है। वहीं, हेलमेट नहीं होने से भी कई लोगों की जान जाती है। हेलमेट जीवन रक्षा के लिए अनिवार्य है। उन्होंने बताया कि कई बार पुलिस सख्ती से नियमों का पालन कराती है। इससे लोगों को भी परेशानी होती है। सख्ती नहीं करने पर लोग लापरवाह हो जाते हैं। इसके कारण भी हादसे होेते हैं।

कैमरे से होगी ट्रैफिक की निगरानी

विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए एसआइ उमाशंकर पांडेय ने बताया कि शहर में ट्रैफिक की निगरानी के लिए आधुनिक कैमरे लगाए जा रहे हैं। इससे चौक चौराहों में नियमों का पालन नहीं करने वालों पर दिन-रात नजर रखी जाएगी। कैमरे से मिली जानकारी के आधार पर नियमों का उल्लंघन करने वालों से जूर्माना वसूला जाएगा। इससे पहले ही लोगों को अपने जरूरी दस्तावेज बनवा लेने चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों को इसकी जानकारी अपने अभिभावकों को भी देने कहा।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close