बिलासपुर। Bilaspur News: रेलवे ग्रुप डी परीक्षा की सभी श्रेणी में पास होने के बाद भी नियुक्ति नहीं होने से नाराज उम्मीदवार गुरुवार को दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन कार्यालय के सामने धरने बैठे थे। इस बीच आरपीएफ ने उम्मीदवारों को खदेड़ते हुए टेंट उखाड़ दिया। उम्मीदवारों ने धक्का-मुक्की का भी आरोप लगाया है।

ये वे उम्मीदवार हैं जिन्होंने 2012 में रेलवे ग्रुप डी की लिखित परीक्षा के अलावा शारीरिक दक्षता, मेडिकल परीक्षा पास की है। वर्ष 2010 में जोन में ग्रुप डी के 5798 रिक्त पदों पर भर्ती निकाली गई थी। उस समय करीब 1335 उम्मीदवारों को रेलवे ने प्रतीक्षा सूची में रखा था। वर्तमान में पद रिक्त होने के बाद भी उनकी नियुक्ति नहीं हो पा रही है।

इसी के चलते उम्मीदवारों ने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन कार्यालय के सामने धरना देने का नोटिस दिया। इसी के तहत सभी सुबह 11 बजे जोन कार्यालय के सामने पहुंचे। धरना टेंट लगाकर दिया जा रहा था। अभी विरोध की शुरुआत हुई ही थी कि आरपीएफ पहुंच गई। इसके बाद उन्हें खदेड़ने लगी।

आरपीएफ का डंडा देख उम्मीदवार भी सहम गए। हालांकि उन्होंने नहीं हटने की बात कही, लेकिन आरपीएफ की सख्ती के आगे उम्मीदवार नहीं टिक सके। इस दौरान टेंट उखाड़ दिए गए। धरनास्थल से भगाए जाने के बाद उम्मीदवार सेकरसा मैदान के पास बैठक करते नजर आए।

अलग-अलग राज्यों से पहुंचे थे

उम्मीदवार बिहार, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ समेत विभिन्न राज्यों के थे। कुछ तो धरना में शामिल होने के लिए बाइक से पहुंचे थे। उनका कहना है कि यदि उन्हें नौकरी पर नहीं रखा गया तो आने वाले दिनों में बड़ा आंदोलन करेंगे। इसमें प्रतीक्षा सूची में शामिल सभी उम्मीदवार शामिल होंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस