बिलासपुर। रेलवे सुरक्षा बल द्वारा एक बार बेहतर कार्य किया गया है। ट्रेन में छूटे एक सैनिक की वर्दी, मोबाइल व अन्य जरुरी सामान को सुरक्षित लौटाया। सबसे अच्छी बात है कि बैग में मिले इन सामानों को सुरक्षित सैनिक पहुंचाने के लिए आरपीएफ काफी जद्दोजहद की। मामला दरभंगा एक्सप्रेस का है। उप निरीक्षक मनीष कुमार ट्रेन की जांच कर रहे थे। इसी दौरान कोच संख्या बी-6 में एक लगेज लावारिस हालात में मिला था। जिसे संबंध में अगल-बगल वालों से पूछताछ की गई। लेकिन सभी ने जानकारी नहीं होने की बात कही। ऐसी स्थिति बैग को बिलासपुर पोस्ट लाया गया। यहां लाकर गवाहों के समक्ष खोलकर देखा गया, जिसमे आर्मी जवान की वर्दी, अन्य इस्तेमाली कपड़े, थर्मस, टिफिन बाक्स व एक मोबाइल था।

जिसके आधार पर संभावित नंबर पर काल करने पर एक व्यक्ति आशुतोष ठाकुर से बात हुई जिन्होंने स्वयं को सीमा सुरक्षा बल का जवान होना बताया। जवान ने बताया कि बैग ट्रेन में ही छूट गया था। इस पर उन्हें आरपीएफ ने सूचना दी की उनका बैग व अंदर रखे सामान सुरक्षित है और आरपीएफ पोस्ट में रखा गया है। यह जानकारी मिल जवान खुश हुआ और उन्होंने पोस्ट पहुंचने की जानकारी भी दी। दूसरे दिन आशुतोष ठाकुर निवासी कमतौल दरभंगा( बिहार) रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट बिलासपुर में उपस्थित हुए और उक्त लगेज और लगेज मे रखे मोबाइल फोन के बारे में जानकारी दी। टीए ड्यूटी स्टाफ के पासर रखे सभी बैग को दिखाया गया। उन्होंने अपने बैग की पहचान की और पूरी जानकारी दी।

लगेज में मोबाइल सहित 25 हजार रुपये के सामान रखे हुए थे। हालांकि आरपीएफ ने दोबारा पहचान की और पूरी तरह संतुष्ट होने के बाद कागजी प्रक्रिया की गई। इसके बाद उन्हें बैग समेत समान सुरक्षित लौटा दिया गया। इससे सैनिक की खुशी का ठिकाना नहीं था। यह पहली बार नहीं है, जब आरपीएफ ने इस तरह की मदद की है। इससे पहले कई बार यात्रियों की इसी कीमती सामानों को ट्रेन सुरक्षित अपने कब्जे में लिया और फिर यात्री को लौटाया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close