बिलासपुर। ट्रेन व स्टेशनों में अव्यवस्था सुधारने के लिए आरपीएफ समय- समय पर जांच करती है। अब प्रयास यह किया जा रहा है कि नियमित जांच कर नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। इसमें अवैध वेंडर, अनाधिकृत प्रवेश और महिला व दिव्यांग कोच पर नजर रखेंगे। यह आरक्षित कोच जिनके लिए है, वहीं इसमें यात्रा करें। अनाधिकृत यात्री चाहे महिला कोच में पुरुष यात्री हो या दिव्यांग कोच में हाथ- पैर से सही सलामत यात्री, सभी पर कार्रवाई की जाएगी।

यात्रियों की सुविधा व सुरक्षा दोनों के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं। इसका पालन यात्रियों को करना जरुरी है। पर कई यात्री बार- बार चेतावनी के बाद उल्लंघन करने से बाज नहीं आते। जिसका सीध प्रभाव उन यात्रियों पर पड़ता है, जो नियमों का शत प्रतिशत पालन करते हुए यात्रा कर रहे हैं। उन्हें अव्यवस्था होती है। जोनल स्टेशन में आरपीएफ की कोशिश यह हो रही है कि जितने बल सदस्य व संसाधन है उन्हीं का उपयोग करते हुए व्यवस्था सुधारी जाए। इसमें सबसे प्रमुख सुरक्षा है। रेलवे स्टेशन दोनों तरफ से खुला है। इसलिए अपराधी आसानी से यहां प्रवेश कर सकते हैं। ऐसे जगहों को चिंहित कर वहां प्रयास किया जा रहा है कि नियमित निगरानी रखी जाए। इसके अलावा अवैध वेंडरों पर शिकंजा कसने की तैयारी है।

खानपान बेचने के लिए फेरी करने का भी नियम है। इसके तहत संबंधित वेंडर के पास मेडिकल व आईकार्ड होना अनिवार्य है। यूनिफार्म तो पहननी ही पड़ता है। अधिकृत वेंडर से खानपान खरीदने पर किसी तरह का खतरा नहीं है। कोई दिक्कत आती भी है तो यात्री रेल प्रशासन को शिकायत कर कार्रवाई करा सकते हैं। पर अवैध वेंडरों की पहचान कर पाना मुश्किल है। इसी का फायदा उठाकर घटिया व बासी खानपान बेचकर अवैध वेंडर निकल जाते हैं। इसका खामियाजा अधिकृत वेंडरों पर पड़ता है। उनकी शिकायत होती है और बेवजह कार्रवाई के झमेले से गुजरना पड़ता है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close