बिलासपुर। Bilaspur Railway News: जोनल स्टेशन में आरटीपीसीआर जांच शुरू हो गई है। यहां महीनों से यह जांच बंद थी। केवल एंटीजन जांच या थर्मल स्क्रीनिंग हो रही थी। जबकि आरटीपीसीआर की यहां सबसे ज्यादा जरूरत थी। हालांकि स्टाफ व अन्य विभागीय अड़चनों की वजह से सुविधा बंद थी। पर अब यात्रियों की आरटीपीसीआर जांच होने लगी है। दरअसल सीएमएचओ कार्यालय के सामने जो जांच केंद्र था। उसे बंद कर दिया गया। इसे ही स्टेशन में शिफ्ट किया गया है, ताकि बाहर से आने वाले यात्रियों की इससे भी कोरोना की जांच हो सके।

जोनल स्टेशन में 16 मार्च से स्वास्थ्य विभाग की टीम तैनात है। यह व्यवस्था इसलिए की गई, क्योंकि संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा स्टेशन से ही है। अभी सभी राज्यों के लिए ट्रेन चल रही है। यहां यात्री जा रहे हैं और वहां बड़ी संख्या में यात्री पहुंच भी रहे हैं। इनमें यदि कोई संक्रमित है तो संक्रमण फैल सकता है। स्वास्थ्य विभाग चाह रहा है कि संक्रमित यात्री की पहचान स्टेशन में ही हो जाए और उसे तत्काल इलाज की सुविधा उपलब्ध हो जाए। अब तक डेढ़ लाख से अधिक यात्रियों की विभाग जांच भी कर चुका है।

इस दौरान बड़ी संख्या में संक्रमित भी मिले। हालांकि अभी स्टेशन में संक्रमितों की संख्या शून्य पर आ चुकी है। पर त्योहारी सीजन को देखते हुए जिस तरह भीड़ ट्रेनों में नजर आ रही है। इससे खतरा बढ़ गया है। स्वास्थ्य विभाग किसी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहता। इसलिए अब एंटीजन के साथ आरटीपीसीआर जांच शुरू की गई है। उनमें थोड़ा भी लक्षण है ऐसे यात्री स्टेशन में भी आरटीपीसीआर जांच करा सकते हैं। बामुश्किल दो दिन के भीतर रिपोर्ट आ जाएगी। तब उन्हें अलग रहने का सुझाव भी दिया जा रहा है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close