Bilaspur News :बिलासपुर । स्कूली बच्चों को समझ आए ऐसी पढ़ाई कराने की बात । संकुल स्तरीय कबाड़ से जुगाड़ प्रदर्शनी, मेला में वक्ताओं ने कही। उन्होंने शिक्षकों को प्रोत्साहित किया।

कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय सरगांव में पुराने संकुल सरगांव एवं मोहभट्ठा संकुल के सभी प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिकाओं के द्वारा लर्निंग आउटकम आधारित विषयवार वार्षिक शैक्षणिक कैलेंडर व विद्यार्थी विकास सूचकांक का निर्माण और उसके प्रस्तुतीकरण, कबाड़ से जुगाड़ द्वारा माहवार गणित, विज्ञान , सामाजिक अध्ययन के पाठों का निर्धारण करते हुए प्रत्येक पाठ के लिए रोचक गतिविधियों एवं प्रयोगों का चिन्हांकन कर अध्यापन के लिए आसपास की स्थानीय वस्तुओं की मदद से तैयार की जाने योग्य प्रयोग के प्रदर्शन आदि मानक बिंदुओं पर अपनी प्रस्तुति दी। उक्त प्रस्तुतियों के आधार पर निर्णायक मंडल के द्वारा विकासखंड स्तरीय प्रदर्शनी के लिए संकुल सरगांव से कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय सरगांव, पूर्व माध्यमिक शाला ककेड़ी, पूर्व माध्यमिक शाला सल्फा एवं संकुल मोहभट्ठा से प्राथमिक शाला किरना, प्राथमिक शाला मोहभट्ठा, प्राथमिक शाला सांवतपुर का चयन किया गया।

इस अवसर पर कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल सरगांव की प्राचार्य डा. छाया सोनी, व्याख्याता केके राजपूत, व्याख्याता ममता सिंह, पीएलसी प्रीती खालसा, पीएलसी फरीद जिलानी के द्वारा निर्णायक की भूमिका का निर्वाह किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में संकुल स्रोत केंद्र सरगांव बालक, सरगांव कन्या, चुनचुनिया, मदकू के समन्वयक और शिक्षक-शिक्षिकाओं का विशेष योगदान रहा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local