बिलासपुर। Bilaspur News: रेलवे का सुरक्षा विभाग यात्रियों के साथ उनके सामानों की हिफाजत भी करता है। आरपीएफ की सतर्कता का नतीजा है कि दो साल में ट्रेन व प्लेटफार्म में छूटे 976 सामानों को सुरक्षित कब्जे लेकर यात्रियों को सुपुर्द किया। इतना नहीं 555 बच्चों को उनके अभिभावकों से मिलाकर बिछड़ने से बचा लिया।

रेलवे अपने यात्रियों के लिए काफी कुछ कर रही है।

आरपीएफ का अमला ट्रेन व प्लेटफार्म में 24 घंटे चौकन्ना रहकर यह निगरानी करता है कि किसी भी स्थिति अपराध न घटे। इसके साथ- साथ उन्हें दोहरी जवाबदारी भी दी गई। जिसमें वे अपना कर्तव्य समझकर यात्रियों की मदद करती है। यह मदद हेल्पलाइन पर काल आने या फिर सर्चिंग के दौरान करती है। उनकी सतर्कता के कारण यात्री के सूटकेस हो बैग सुरक्षित मिले जिनमें कीमती सामान भी रखा हुआ था।

कई यात्रियों ने उनकी कार्यशैली से प्रभावित होकर सोशल मीडिया में तारीफ लिखी। रेलवे भी ऐसी मदद पर बल सदस्यों को प्रोत्साहित करने के लिए पुरस्कार देती है। मालूम हो कि सुरक्षा विभाग की ओर से समय—समय पर अभियान चलाया जाता है। स्टेशन समेत ट्रेनों में ऐसे बच्चों की खोज की जाती है। साथ ही यात्रियों के छूटे सामानों सुरक्षित रखा जाता है।

छूटे सामान जिसे सुरक्षित लौटाया गया

माह 2019 2020

जनवरी 61 73

फरवरी 51 62

मार्च 41 45

अप्रैल 54 00

मई 58 00

जून 71 05

जुलाई 65 04

अगस्त 67 02

सितंबर 65 04

अक्टूबर 74 18

नवंबर 83 213

दिसंबर 73 --

इतने बच्चों को सुरक्षित अभिभावकों से मिलाया

माह 2019 2020

जनवरी 20 41

फरवरी 14 33

मार्च 23 49

अप्रैल 41 00

मई 20 02

जून 41 01

जुलाई 65 01

अगस्त 49 02

सितंबर 48 05

अक्टूबर 32 09

नवंबर 33 --

दिसंबर 26 --

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस