बिलासपुर। Bilaspur News: बीज विकास निगम के अफसरों ने विधानसभा में गलत जानकारी पेश कर राज्य सरकार की फजीहत करा दी है। राज्य सरकार ने विधानसभा में जो जानकारी पेश की है वह चौकाने वाली है। राज्य सरकार ने दोटूक कहा कि प्रमाणिक बीज में किसी भी तरह की गड़बड़ी की शिकायत नहीं मिली है। भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियों ने कृषि मंत्री रविंद्र चौबे से मिलकर प्रमाणिक बीजो की गुणवत्ता को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी।

विधानसभा में राज्य सरकार द्वारा दी गई गलत जानकारी को लेकर नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने खुद ही स्वीकार किया है कि 42 किस्म के बीजों व रासायनिक खाद के नमूने अमानक श्रेणी के है। जिस बात को लेकर हम लम्बे समय से कह रहे थे कि अमानक बीज व खाद प्रदेश के सभी जिलों में बेचा जा रहा है। जिससे किसानों को नुकसान हो रहा है। जिस पर प्रदेश सरकार की जरा भी चिंता भी नहीं रही है। प्रदेश की सरकार इस बात की दावा करती है कि वह किसानों की हितैषी सरकार है।

लेकिन किसानों को खाद-बीज तक असली नहीं दिलवा पर रही है। अब तो हालत इतने गंभीर हो चले है कि खरीफ फसल की बोआई में किसान जुटे है तो सहकारी समितियों के करीब 12 हजार कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर है। प्रदेश के सभी जिलों में खाद की आपूर्ति नहीं होने से किसान परेशान और चिंतित है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही प्रदेश में प्रतिबंधित कीटनाशक बेच जा रहा है।जिस पर केन्द्र सरकार ने प्रतिबंध लगाया है। उसके बाद प्रदेश में यह कीटनाशक किस कारणों से बेचा जा रहा है। यह समझ से परे है।

खाद की हो रही तस्करी

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि प्रदेश में खाद की तस्करी अन्य राज्यों में हो रही है। इस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। वहीं प्रदेश की सरकार ने अपने पंसदीदा लोगों को इस कार्य में लगाया है।

डा बांधी ने उठाया था मुद्दा

मानसून सत्र के दौरान मस्तूरी के विधायक व पूर्व मंत्री डा कृष्णमूर्ती बांधी ने अमानक प्रमाणिक बीज की आपूर्ति का मुद्दा उठाया था। डा बांधी के सवाल र राज्य सरकार ने अमानक बीज को लेकर शिकायत ना मिलने का जवाब दिया है।

कटघरे में बीज निगम

भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष धीरेंद्र दुबे ने पदाधिकारी के साथ कलेक्टर से मुलाकात कर अमानक बीज की आपूर्ति करने की शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत के बाद बीज विकास निगम के अधिकारियों ने किसानों से मुलाकात कर बीज की जांच भी की थी।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local