बिलासपुर। अग्निपथ योजना के विरोध में 27 जून को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के बैनर तले कांग्रेसी प्रदेशव्यापी सत्याग्रह करेंगे। सत्याग्रह की सफलता के लिए पीसीसी ने विधानसभावार पर्यवेक्षकों की सूची जारी की है। बिलासपुर जिले के दो विधानसभा क्षेत्रों बिल्हा बेलतरा के पराजित प्रत्याशियों को पर्यवेक्षकों की सूची में जगह नहीं मिल पाई है। इसे लेकर अटकलबाजी का दौर शुरू हो गया है। इनके अलावा जिले के दिग्गज कांग्रेसी नेताओं को भी सूची से बाहर रखा गया है। नए सिरे से बनने वाले राजनीतिक समीकरण को लकर चर्चा भी होने लगी है।

राजधानी दिल्ली में केंद्र सरकार के खिलाफ माहौल बनाने के बाद अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने अग्निपथ को देशव्यापी मुद्दा बनाने का निर्णय लेते हुए देशभर के पीसीसी को निर्देश जारी किया है। एआइसीसी के निर्देश पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने 27 जून को विधानसभा स्तरीय सत्याग्रह का आदेश जारी किया है। प्रदेशभर में एक ही दिन विधानसभा स्तरीय सत्याग्रह का आयोजन किया जाएगा। सत्याग्रह की सफलता के लिए पीसीसी ने विधानसभावार पर्यवेक्षकांे की नियुक्ति करते हुए सूची जारी कर दी है।

पीसीसी की सूची पर गौर करें तो बिलासपुर विधानसभा क्षेत्र के लिए शहर विधायक शैलेष पांडेय, तखतपुर विधानसभा क्षेत्र संसदीय सचिव विधायक रश्मि सिंह, कोटा विधानसभा जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय केशरवानी, बिल्हा विधानसभा पीसीसी उपाध्यक्ष अस्र्ण सिंघानिया, बेलतरा विधानसभा पूर्व विधायक चुन्न्ीलाल साहू, मस्तूरी विधानसभा पूर्व विधायक दिलीप लहरिया को पर्यवेक्षक नियुक्ति किया है। मुंगेली जिले के लोरमी विधानसभा क्षेत्र के लिए जिलाध्यक्ष सागर सिंह बैस मुंगेली विधानसभा के लिए पीसीसी महासचिव सीमा वर्मा को जिम्मेदारी सौंपी गई है। बिलासपुर जिला मुख्यालय में दिग्गज कांग्रेसी नेताओं के बीच पीसीसी द्वारा जारी पर्यवेक्षकों की सूची को लेकर अटकलबाजी शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के करीबी दिग्गज नेताओं को सूची से बाहर रखा गया है।

राजेंद्र शुक्ला साहू को नहीं मिली जगह

बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के उम्मीदवार राजेंद्र शुक्ला बेलतरा विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस के प्रत्याशी राजेंद्र साहू को उनके विधानसभा क्षेत्र के लिए पर्यवेक्षक की जिम्मेदारी ना देने को लेकर दोनों ही विधानसभा क्षेत्र में उनके समर्थकों की बीच कानाफूसी भी शुरू हो गई है। जाहिर है इन दोनों विधानसभा क्षेत्र में बन रहे नए राजनीतिक समीकरण के चलते आने वाले दिनों में इसका असर भी दिखाई देगा

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close