बिलासपुर। कोरोना संक्रमण के कारण इस साल भी बहनें जेल में बंद अपने भाइयों को राखी नहीं बांध सकेंगी। जेल मुख्यालय ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। जेल के बाहर बाक्स लगाया जा रहा है। बहनें राखी और तिलक लिफाफे में बंद कर बाक्स में डाल देंगी। जेल प्रबंधन इसे उनके भाइयों तक पहुंचाएगा। कोरोना संक्रमण के चलते जेलों में दो साल से रक्षाबंधन पर्व पर बहनों को उनके भाइयों से नहीं मिलने दिया जा रहा है। इससे पहले जेल में रक्षाबंधन पर बहनों के लिए विशेष इंतजाम किए जाते थे।

इस दौरान बहनें अपने भाइयों से मिलकर उन्हें राखियां बांधकर मिठाई खिलाती थीं। कोरोना संक्रमण के बाद से जेल प्रबंधन ने इस पर रोक लगा दी है। इस साल भी कोरोना संक्रमण के कारण प्रतिबंध जारी है। प्रबंधन ने जेल के बाहर बाक्स का इंतजाम किया है। इसमें बहनेें अपने भाइयों के लिए लिफाफे में तिलक और राखियां रखकर डाल देंगी। प्रबंधन इसे संबंधित कैदी तक पहुंचाएगा। इस दौरान उनकी मुलाकात अपने भाइयों से नहीं हो सकेगी।

स्वयंसेवी संगठनों पर भी रहेगा प्रतिबंध

रक्षाबंधन पर कई स्वयंसेवी संगठनों की ओर से जेल में बंद लोगों को राखी बांधकर अपराध छोड़कर समाज के मुख्यधारा में जुड़ने का आह्वान किया जाता था। इस बार जेल प्रबंधन ने इस तरह के आयोजन पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। इस साल भी किसी संगठन की ओर से कोई कार्यक्रम आयोजित करने अनुमति नहीं दी जाएगी।

जेल के बाहर लगती थी भीड़

कोरोना संक्रमण के पहले रक्षाबंधन के दिन जेल प्रबंधन की ओर से जेल में बंद लोगों को उनकी बहनों से मिलाने के लिए इंतजाम किए जाते थे। इसके कारण जेल के बाहर भीड़ रहती थी। जेल प्रबंधन और पुलिस की ओर से अतिरिक्त सुरक्षा की व्यवस्था की जाती थी । वहीं, बहनें भी अपने भाइयों से मिलने के लिए सुबह से कतार लगाती थीं।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close