बिलासपुर। Crime news : बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की स्कूली छात्रा से अंबिकापुर शहर में दुष्कर्म करने के आरोप पर पुलिस ने छह अपचारी बालकों को भी गिरफ्तार कर लिया है। लगभग एक पखवाड़े के भीतर आठ लोगों ने अलग-अलग स्थानों पर उससे दुष्कर्म किया था। दो आरोपितों को एक दिन पहले ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। फरार छह अन्य की गिरफ्तारी अंबिकापुर के अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर की गई। अपचारी बालक भी अंबिकापुर में किराए के मकान में रहकर मजदूरी किया करते थे।

राजपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की 16 वर्षीया स्कूली छात्रा बीते 20 नवंबर को घरवालों को बिना जानकारी दिए निकल गई थी। परिजन उसकी खोजबीन में लगे हुए थे, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल रहा था। परिचितों सहेलियों और रिश्तेदारों से भी किशोरी के संबंध में कुछ जानकारी नहीं मिलने पर बीते 30 नवंबर को किशोरी के स्वजनों ने राजपुर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने मामला दर्ज कर उसकी खोजबीन शुरू की थी।

पांच नवंबर को छात्रा अपने अंबिकापुर स्थित मकान में पहुंची थी। वहां रहने वाले रिश्तेदारों से मिली सूचना पर छात्रा के पिता सहित अन्य स्वजन राजपुर पुलिस को सूचना देकर अंबिकापुर पहुंच गए थे। चूंकि राजपुर पुलिस ने पहले ही अपराध दर्ज किया था इसलिए पुलिस की एक टीम भी उसे बरामद करने अंबिकापुर पहुंच गई। महिला पुलिस अधिकारी द्वारा पूछताछ करने पर छात्रा ने आठ लोगों द्वारा उसके साथ अलग-अलग स्थान पर दुष्कर्म करने की जानकारी दी थी।

पुलिस जांच में पता चला कि घटना दिवस को घर से निकलने के बाद राजपुर में उसकी मुलाकात पहले से परिचित दरिमा थाना क्षेत्र के ग्राम परसोड़ी निवासी अमरेश 22 वर्ष से हुई थी। अमरेश ही मोटरसाइकिल से बैठा कर उसे अंबिकापुर के किराए के मकान में ले गया था। यहां उसने किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। अगले दिन आरोपित अमरेश का साथी जयनगर थाना क्षेत्र के ग्राम कोरेया निवासी आलम साय पिता त्रिलोचन पनिका 22 वर्ष में किशोरी को अपने घर रखा था। उसने भी उसके साथ दुष्कर्म किया।

इस दौरान छात्रा अपने गांधीनगर स्थित घर नहीं गई थी। छात्रा अंबिकापुर के ही एक स्कूल में पढ़ती थी। उसी दौरान मैनपाट क्षेत्र के एक अपचारी बालक से उसकी पहचान थी। उसी अपचारी बालक के साथ वह शहर में निर्माण कार्य में कथित रूप से मजदूरी करने लगी। अपचारी बालक भी किराए के मकान में ही रहता था। उसके हम उम्र दोस्त भी अंबिकापुर शहर में मजदूरी करते थे। इन्हीं छह अपचारी बालकों ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया था।

राजपुर थाना प्रभारी फरदीनन्द कुजूर ने बताया कि गुम छात्रा की बरामदगी के तत्काल बाद बयान दर्ज किया गया। बयान के आधार पर दुष्कर्म करने वाले सभी आठ को गिरफ्तार किया गया है। दो आरोपितों को न्यायिक रिमांड पर भेजा जा रहा है। अपचारी बालकों को बाल न्यायालय में पेश किया जाएगा। उन्होंने बताया कि छात्रा के पिता का खुद का भी मकान अंबिकापुर में है, इसके बावजूद वह राजपुर क्षेत्र के घर से जाने के तत्काल बाद अपने घर नहीं गई थी।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस