बिलासपुर। Smart City Bilaspur: शहर की पहली स्मार्ट सड़क मिट्टीतेल लाइन भी अब अधिकारियों की उदासीनता की भेंट चढ़ने लगी है। ई-रिक्शा को बढ़ावा देने के लिए सड़क पर बनाई गई ई-रिक्शा चार्जिंग पाइंट खराब हो गई है। इससे ई-रिक्शा चालकों को नि:शुल्क चार्जिंग की सुविधा मिलनी बंद हो गई है।

मिट्टीतेल लाइन में साढ़े छह करोड़ की लागत से शहर की पहली स्मार्ट सड़क बनाई गई है। यहां कई प्रकार की सुविधाएं भी शहरवासियों को दी गई हैं। इन्हीं सुविधाओं में से एक ई-चार्जिंग पाइंट है। ई-रिक्शा को बढ़ावा देने के लिए यहां पर इसे बनाया गया है। यहां पर ई-रिक्शा को निश्शुल्क चार्ज किया जा सकता है। इसके होने से ई-रिक्शा वालों को बीच-बीच में वाहन का चार्ज करने का मौका मिल जा रहा था। लेकिन, सोमवार को अचानक यह बंद पड़ गई है।

बंद होने पर ई-रिक्शा संचालकों ने इसकी जानकारी नगर निगम को भी दी। लेकिन, इस ओर जरा भी ध्यान नहीं दिया गया। इससे ई-रिक्शा वालों को चार्जिंग करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इससे पहले भी एक बार ई-चार्जिंग पाइंट खराब हो गई थी, लेकिन उस समय उसे तत्काल बना लिया गया था, लेकिन इस बार ऐसा नहीं किया गया है।

एक साथ 12 ई-रिक्शा होते हैं चार्ज

ई-चार्जिंग पाइंट में छह पाइंट दिए गए हंै। इसके माध्यम से एक बार में 12 ई-रिक्शा को चार्ज पर लगाया जा सकता है। पूरी तरह से चार्ज होने में एक रिक्शे को चार से पांच घंटे लगता है। चार्ज होने पर रिक्शा की क्षमता के अनुसार 60 से 80 किलोमीटर तक चल पाता है।

चार्जिंग पाइंट के खराब होने की जानकारी मिली है। जल्द ही सुधार कार्य कर फिर से इसे शुरू कर दिया जाएगा।

पीके पंचायती, प्रभारी स्मार्ट सड़क, नगर निगम

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags