बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रविवार को हावड़ा- एलटीटी एक्सप्रेस के एक कोच की खिड़की का कांच पत्थर लगने से चकनाचूर हो गया। इसमें यात्री के चोट लगने की भी खबर है। लेकिन उस यात्री की पुष्टि नहीं हुई। सूचना मिलने के बाद बिलासपुर रेलवे स्टेशन में कोच का कांच बदला गया। इसके बाद ट्रेन रवाना हुई।

घटना राबर्टसन रेलवे स्टेशन से आगे की है। ट्रेन रफ्तार में थी और बिलासपुर की ओर बढ़ रही थी। इसी बीच ए-1 कोच के बर्थ क्रमांक 47 पर अचानक जोर की आवाज आई। इससे कोच के अंदर बैठे यात्री सहम गए। इस बर्थ के दोनों कांच चकनाचूर हो गए। एक यात्री के घायल होने की भी सूचना है। यात्रियों ने तत्काल इसकी सूचना टीटीई को दी। जोनल स्टेशन में मैकेनिकल विभाग को सूचना थी कि कोच का कांच टूट चुका है। इसके चलते एसी कोच के अंदर यात्रियों को परेशानी हो रही है। इस पर विभाग का अमला ट्रेन के पहुंचने से पहले स्टेशन में नए कांच व अन्य संसाधन के साथ प्लेटफार्म पर तैनात हो गया। ट्रेन के सुबह पहुंचने पर टूटे कांच को निकालकर नए लगाने का काम शुरू किया। जितनी देर ट्रेन ठहरती है उतने में मैकेनिकल विभाग ने काम पूरा कर लिया। यह पुष्टि नहीं हो पाई कि पत्थरबाजी की इस घटना में आखिर कौन यात्री घायल हुआ है।

जनवरी से अब पत्थरबाजी की नौंवी घटना

- आठ जनवरी- रायगढ़- राबर्ट्‌सन स्टेशन के बीच उत्कल एक्सप्रेस

- दो फरवरी- चांपा के पास हसदेव एक्सप्रेस

- 13 फरवरी- अनूपपुर में कोल लोड मालगाड़ी

- 16 फरवरी- किरोड़ीमलनगर - भूपदेवपुर के बीच दरभंगा- सिकंदराबाद एक्सप्रेस

- 24 फरवरी-शहडोल- अंबिकापुर पैसेंजर में मनेंद्रगढ़ के पास

- 24 मार्च-नैला स्टेशन के समीप मालगाड़ी

- पांच अप्रैल- नैला- चांपा के मध्य कुर्ला - हावड़ा एक्सप्रेस

- 21 जून- सरोना- उरकुरा के मध्य गोंडवाना गेट के पास मालगाड़ी

- 21 जुलाई- रायगढ़- राबटर्सन के बीच समरसता एक्सप्रेस