धीरेंद्र सिन्हा, बिलासपुर नईदुनिया। 12वीं बोर्ड के छात्र-छात्राओं को अब कॉलेज या विश्वविद्यालय में प्रवेश फार्म भरने ज्यादा झंझट नहीं उठाना पड़ेगा। अंकसूची स्केन या अन्य दस्तावेज भी अपलोड नहीं करना पड़ेगा। अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय नए शिक्षण सत्र से स्टूडेंट को खास सुविधा देने जा रहा है। स्टूडेंट को विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर प्रवेश के लिए सिर्फ अपना रोल नंबर डालना होगा। सिस्टम ऑटोमेटिक उसका पूरा डाटा रिसीव कर लेगा।

नाम, पिता का नाम या अन्य कोई त्रुटि की गुंजाइश भी नहीं रहेगी। अटल बिहारी वाजपेयी विवि डिजिटलाइजेशन में इस तरह की सुविधा देने वाला प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय बन जाएगा। स्टूडेंट को इससे काफी मदद मिलेगी। समय की बचत होगी। अंकसूची लेकर घूमना नहीं पड़ेगा। घर बैठे विश्वविद्यालय के वेबसाइट में दिए गए लिंक में प्रवेश के लिए प्रक्रिया अपनानी होगी।

स्टूडेंट को सबसे पहले 12वीं कक्षा के अंकसूची में दिए गए रोल नंबर डालना होगा। सिस्टम ऑटोमेटिक उसकी पूरी जानकारी स्क्रीन पर दिखा देगा। अपना नाम, पिता का नाम, बोर्ड परीक्षा का डिटेल आदि डालने की जरूरत नहीं होगी। माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड रायपुर सबकुछ उपलब्ध करा देगा। प्रवेश लेने वाले स्टूडेंट को सिर्फ कॉलेज में लिए जाने वाले गु्रप या विषय का चयन कर शुल्क अदा करना होगा। हालांकि यह सुविधा भी ऑनलाइन उपलब्ध रहेगी।

उच्च शिक्षा विभाग से हरी झंडी : आयुक्त उच्च शिक्षा विभाग ने अटल विवि प्रशासन के इस कदम की सराहना किया है। प्रदेश में किसी दूसरे विश्वविद्यालय में ऐसी सुविधा नहीं है। ऑनलाइन रोल नंबर सुविधा को लेकर विश्वविद्यालय द्वारा दिए गए प्रेजेंटेशन को उचित माना है। अब पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर यहां इसकी शुरुआत होगी। सबकुछ ठीक रहा तो अगले साल से प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय में इसे लागू किया जाएगा।

माशिमं उपलब्ध कराएगा

लिंक उच्च शिक्षा आयुक्त से मिले निर्देश के बाद अब यह साफ हो गया है कि दसवीं और बारहवीं बोर्ड की पूरी अंकसूची माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड रायपुर उपलब्ध कराएगा।

अब तक यह काम पूरा

- ऑनलाइन परीक्षा फार्म भरने सहूलियत

- स्टूडेंट को ऑनलाइन डिग्री की सुविधा

- वेबसाइट पर तीन साल का प्रश्नपत्र अपलोड

- माइग्रेशन, टीसी, सीसी ऑनलाइन प्राप्त

- बीएड कॉलेजों का पूरा डाटा सार्वजनिक

- मोबाइल पर सूचना व रिजल्ट जारी करना

- यूटीडी में ऑनलाइन प्रश्नपत्र से परीक्षा

फ्यूचर प्लान में यह शामिल

- एक क्लिक में कॉलेजों का फीस विवरण

- डिजीटल कार्ड या एप से पेमेंट की सुविधा

- पीजी की परीक्षा में ऑनलाइन प्रश्नपत्र

- ई-मेल के जरिए समस्या का निराकरण

- क्लॉसरूम की ऑनलाइन मॉनिटरिंग

छात्र-छात्राओं को होगा फायदा

नए सत्र से 12वीं बोर्ड के रोल नंबर आधारित प्रवेश की प्रक्रिया शुरू करने पूरी तैयारी है। उच्च शिक्षा विभाग ने माशिमं से डाटा दिलाने भरोसा दिलाया है। स्टूडेंट को काफी आसानी होगी। समय की बचत व गड़बड़ी की संभावना कम होगी। प्रदेश में अभी किसी भी विश्वविद्यालय में यह सुविधा नहीं है। प्रो.सुधीर शर्मा, रजिस्ट्रार,अटल बिहारी वाजपेयी विवि

रजिस्ट्रार ने सुझाया आइडिया

उच्च शिक्षा आयुक्त के समक्ष रजिस्ट्रार प्रो.सुधीर शर्मा ने यह आइडिया सुझाया। जिसमें उन्होंने बताया कि माशिमं के डाटा से उच्च शिक्षा में फायदा उठाया जा सकता है। पारदर्शी होने के साथ सुरक्षा के लिहाज से भी फायदेमंद होगा। स्टूडेंट के फार्म भरते वक्त गड़बड़ी की संभावना कम होगी। प्रवेश पत्र में भी दिक्तत नहीं आएगी। ज्यादातर समस्या नाम व बोर्ड के अंकसूची को लेकर रहती है। स्टूडेंट को भी आसनी होगी।

Posted By: Prashant Pandey