बिलासपुर। SECR News: बिलासपुर रेल मंडल के दो और रेलवे फाटक 25 अक्टूबर से हमेशा के लिए बंद हो जाएंगे। पाराघाट व उदिया फाटक में रेलवे ने यहां सीमित हाइट सब-वे का निर्माण पूरा कर लिया है। इससे फाटक बंद होने के बाद भी राहगीरों को परेशानी नहीं होगी। वे आसानी से आवाजाही कर सकते हैं।

रेलवे में सभी मानव रहित फाटक को बंद करने की योजना है। इससे पहले कई बंद हो चुके हैं। हर साल एक लक्ष्य बनाकर रेलवे ऐसा कर रही है। इसी के तहत लटिया-जयरामनगर स्टेशन के मध्य किमी. 701/23-25 पर स्थित मानव सहित समपार संख्या 359 (पाराघाट फाटक) तथा छादा-सिंगपुर स्टेशनों के मध्य किमी. 900/11-13 पर स्थित मानव सहित समपार संख्या -70 (उदिया फाटक) को सुरक्षागत कारणों से बंद किया जा रहा है। इसके बाद राहगीर फाटक से नहीं गुजर पाएंगे। हालांकि यहां पर रेलवे ने राहगीरों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की है।

दोनों फाटक में सीमित हाइट सब- वे का निर्माण किया गया। काफी दिनों से निर्माण चल रहा था। रेलवे पहले सब- वे, अंडर ब्रिज या फिर ओवरब्रिज बनाती है ताकि उस क्षेत्र के रहवासियों को किसी तरह की परेशानी न हो। दरअसल बंद फाटक से दुर्घटना का खतरा रहता है। राहगीर फाटक बंद है। उसके बाद बूम के नीचे या किनारे से पार करते हैं। जबकि फाटक बंद मतलब यह होता है कि ट्रेन गुजरने वाली है। लेकिन लोग जान जोखिम में डालकर ऐसा करते हैं। रेलवे जागरूकता के सारे उपाय करती है। पर इसका राहगीरों पर कोई खास असर नहीं पड़ता। फाटक स्थाई बंद हो जाएगा तो लोग खुद इससे गुजरना बंद कर देंगे।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local