बिलासपुर। Bilaspur News: कांग्रेस के पूर्व पार्षद व पार्षद पति द्वारा प्रवेश द्वार में महज 200 रूपये के दो घड़ी लटकाकर उसका नाम घड़ी चौक कर दिया, जबकि इस संबंध में नगर पालिका से कोई प्रस्ताव पारित नहीं हुआ है और न शासन स्तर से कोई आदेश जारी हुआ है।

ऐसे में वार्ड के लोगों में भी नाराजगी है। तत्कालीन सांसद कमला पाटले के सांसद निधि प्रवेश द्वार का निर्माण कराया गया है, मगर उनके नाम व निधि की जानकारी को भी पेंट कर मिटा दिया गया है। पार्षद पति के मनमाने रवैये के चलते वार्डवासी आक्रोशित हैं।

नगर की बदहाल व्यवस्थाओं को सुधारने व मोहल्लेवासियांे की समस्याओं को दूर करने के लिए मोहल्लेवासी अपने में से एक व्यक्ति का चुनाव करते हंै जो उनका प्रतिनिधित्व कर सके, यदि जनप्रतिनिधि ही निजी स्वार्थ पर उतर आए तो मोहल्ले का विकास अंसभव है। नगर पालिका जांजगीर नैला के वार्ड नंबर 18 सहित कई वार्डों के जनप्रतिनिधियों द्वारा अवैध प्लाटिंग कर उुंची कीमत निर्धारित कर जमीनों की खरीदी-बिक्री की जा रही है।

वे जनता के हितों को छोड़ कर अवैध प्लाटिंग कर वार्ड की साज-सज्जा कर अपनी जमीन को मनमानी कीमत पर बेच रहे हैं। नगर पालिका जांजगीर नैला के पूर्व पार्षद व वार्ड नंबर 18 के पार्षद पति द्वारा पार्षद निधि का दुरूपयोग कर मनमाने ढंग से कराए जा रहे कार्यों के चलते एक बार पिुर से सुर्खियों में हैं।

पार्षद पति रामकुमार यादव द्वारा पूर्व सांसद सांसद कमला देवी पाटले के कार्यकाल में लाखों रूपये की लागत से निर्मित प्रवेश द्वार में मनमाने ढंग से पेंट कर इसका स्वरूप परिवर्तन कर दिया गया है। उनके द्वारा पूर्व सांसद निधि से निर्मित वार्ड नंबर 18 के प्रवेश में पार्षद निधि का दुरूपयोग कर रंगरगोन कर महज 200 रुपये की दो घड़ियां लगाकर यहां लाइटिंग की गई, ताकि जमीन खरीददार उनके प्लाट के प्रति जल्दी आर्कषित हो और ऊंची कीमत पर उसकी बिक्री हो।

उनके द्वारा बिना नगर पालिका के प्रस्ताव के प्रवेश द्वार से तत्कालीन भाजपा सांसद का नाम हटाकर यहां घड़ी चौक लिखवा दिया गया है। पार्षद पति के मनमाने रवैये के चलते वार्डवासियों में आक्रोश बढ़ने लगा है। सोमवार को पार्षद पति रामकुमार यादव द्वारा पूर्व सांसद निधि से निर्मित प्रवेश द्वार का रंगरोगन कर यहां घड़ी चौक लिखाया गया।

इसकी जानकारी मिलते ही वार्डवासियों में आक्रोश बढ़ने लगा है। वार्डवासी दिनेश राठौर सहित अन्य लोगों का कहना है कि पार्षद पति द्वारा पत्नी के पार्षद निधि का दुरूपयोग कर मनमाने ढंग से कार्य किया जा रहा है। यहां एक बार उनके द्वारा पूर्व सांसद निधि से निर्मित रमन नगर के प्रवेश द्वार में पार्षद निधि का दुरूपयोग कर लाइटिंग व घड़ी लगाई गई है।

साथ ही नगर पालिका के बिना प्रस्ताव के चौक का नामकरण कर दिया गया है। इस संबंध में मंगलवार को कलेक्टर, एसपी, एसडीएम व नगर पालिका सीएमओ को ज्ञापन सौंपकर शीघ्र ही उनके खिलापु कार्रवाई की मांग की जाएगी, यदि प्रशासन द्वारा इसे गंभीरता से नहीं लिया जाता है तो आगे उग्र आंदोलन भी किया जाएगा।

पार्षद निधि का दुरूपयोग

इस संबंध में लोगों को कहना है कि पार्षद को वार्ड की मूलभूत सुविधाओं से कोई सरोकार नहीं है। यहां सालों बाद भी वार्ड में रोड व नाली के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर पार्षद पति द्वारा पार्षद निधि का निजी स्वार्थ दुरूपयोग कर अवैध रूप से सड़क किनारे गार्डन, मंदिरों में अनावश्यक रूप से कुर्सियां, एलइडी लाइट में राशि खर्च कर पार्षद निधि का दुरूपयोग किया जा रहा है, जबकि पक्की नाली के अभाव में घरों से निकला गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है।

बारिश के दिनों में पक्की सड़क के अभाव में सड़क कीचड़ से सराबोर हो जाती है, मगर पार्षद को लोगों की समस्याओं से कोई सरोकार नहीं है। वार्ड नंबर 18 के पार्षद अपने निधि का दुरूपयोग कर माइनर नहर के किनारे निर्माण के लिए सिंचाई विभाग के अधिकारियों से कोई भी अनुमति नहीं ली गई है और माइनर नहर व सड़क के बीच लगभग 10 से 12 पुीट की जमीन है। यहां पार्षद द्वारा नहर से सटकर तार घेरा कर झूला व कुर्सियां लगाई गई है।

क्या है प्रावधान

किसी चौक चौराहा या गली मोहल्ले के नामकरण के लिए नगरीय क्षेत्र में नगर पालिका मंे प्रस्ताव लाया जाता है प्रस्ताव की स्वीकृति के बाद ही चौक चौराहों का नामकरण या नाम परिवर्तन किया जाता है, मगर यहां इस तरह की प्रक्रिया का पालन नहीं हुआ है। पार्षद पति की मनमानी चरम पर है। अवैध प्लाटिंग व पार्षद निधि के दुरूपयोग की शिकायत एसडीएम से की थी। एसडीएम ने अवैध प्लाटिंग के मामले में केवल नोटिस देकर औपचारिकता निभा दी थी। जिससे इनके हौसले बुलंद हैं।

वार्ड नंबर 18 में प्रवेश द्वार मेरे द्वारा सांसद निधि से बनवा गया था। यहां घड़ी किसी के द्वारा लगाई गई थी। वहां तक ठीक था, मगर प्रवेश द्वार में बिना अनुमति के घड़ी चौक लिखवाना गलत है।

कमला देवी पाटले, पूर्व सांसद

कांग्रेस पार्षदों द्वारा मनमाने ढंग से कार्य किया जा रहा है। वार्ड नंबर 18 के प्रवेश द्वारा में लिखे जाने के संबंध में नगर पालिका में कोई प्रस्ताव पारित नहीं किया गया है।

आशुतोष गोस्वामी, उपाध्यक्ष, नगर पालिका जांजगीर-नैला

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags