बिलासपुर। Bilaspur News: बलरामपुर रामानुजगंज जिले के ग्राम तामेश्वरनगर में हवाई पट्टी निर्माण का कार्य आठ वर्षों के बाद भी पूर्ण नहीं हो सका है। आज भी बाउंड्रीवॉल एवं अन्य कार्य अधूरे हैं, लेकिन विभाग के द्वारा करीब तीन वर्ष पूर्व ही कार्य को पूर्ण बता दिया गया है। ऐसे में अब सवाल उठता है कि हवाई पट्टी की बाउंड्रीवॉल एवं अन्य कार्य पूर्ण कब होगा।

गौरतलब है कि बलरामपुर रामानुजगंज जिले को हवाई कनेक्टिविटी से जोड़ने के लिए छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा करीब 14 करोड़ रुपए की लागत से ग्राम तामेश्वरनगर में हवाई पट्टी निर्माण की स्वीकृति दी गई थी। कार्य आदेश 17 फरवरी 2012 को जारी हुआ और कार्य को 15 नवंबर 2014 को पूर्ण हो जाना चाहिए था परंतु लोक निर्माण विभाग की लापरवाही से कार्य काफी धीमी गति से चला। हवाई पट्टी निर्माण का कार्य भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया। हवाई पट्टी निर्माण कार्य में ढाई किलो मीटर एप्रोच सड़क, डेढ़ किलो मीटर एयर स्ट्रिप एवं एवं बाउंड्री वाल का निर्माण किया गया। इसमें 22 सौ मीटर बाउंड्रीवाल का निर्माण ही पूर्ण हो सका। बाकी निर्माण अभी भी अधूरा है।

बनते ही बह गई थी एप्रोच पुलिया

ढाई किलो मीटर सड़क एवं हवाई पट्टी को जोड़ने के लिए पुलिया का निर्माण किया गया था जो बनने के पहले ही वर्ष में बह गई। इसके बाद नई पुलिया का निर्माण कराया गया। परंतु जो पुलिया बह गई उसके जिम्मेदार लोगों के विरुद्ध आज तक कार्यवाही नहीं की गई।

हवाईपट्टी में है खतरनाक बड़ा गड्ढा

हवाई पट्टी में लोक निर्माण विभाग के द्वारा 14 करोड़ खर्च किए गए लेकिन हवाई पट्टी के बीचों-बीच एक खतरनाक गड्ढे को आज तक नहीं भरवाया जा सका है जो कभी भी बड़ी दुर्घटना कारण भी बन सकता है।

वीआईपी लाउंज की स्थिति हुई दयनीय

हवाई पट्टी के बगल में वीआईपी लाउंज बनाया गया है जहां एक वर्ष पूर्व प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आए थे, आज उसकी स्थिति दयनीय हो गई है। सभी दरवाजों के कुंडी गायब हैं।बाथरूम एवं किचन से भी सामान गायब हैं। वायरिंग उखड़ गई है और पंखे गायब हो गए हैं। यह जगह नशेड़ियों का अड्डा बन गया है।

हवाई पट्टी निर्माण हुए काफी समय बीत गया है। इस संबंध में मुझे बहुत ज्यादा जानकारी नहीं है। पता करता हूं बाउंड्रीवॉल का निर्माण पूर्ण क्यों नहीं हो पाया है।

- समय लाल, अधीक्षण अभियंता, लोक निर्माण विभाग

हवाई पट्टी में बाउंड्रीवाल का निर्माण पूर्ण क्यों नहीं हो पाया है और वीआईपी लाउंज की स्थिति कैसी है, इस संबंध में लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से जानकारी लेता हूं।

- श्याम धावड़े, कलेक्टर, बलरामपुर

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस