बिलासपुर। कोरोना काल में बेसिक स्कूलों की शिक्षा प्रभावित होने के बाद पुन: उसे पटरी पर लाने के उद्देश्य से शासन द्वारा स्कूलों में रेडिनेश कार्यक्रम चलाकर शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। ताकि बच्चों को संबंधित कक्षा के अनुरूप तैयार करने की चुनौती सार्थक हो। इसी कड़ी में शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक शाला सीपत संकुल केंद्र में जोन स्तरीय स्कूल रेडिनेश कार्यक्रम का प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ। जिसमे कक्षा पहली पढ़ाने वाले शिक्षकों के अकादमिक कौशलों में वृद्धि व कक्षा विषयगत शिक्षण पूर्व तीन माह का स्कूल रेडिनेश कार्यक्रम के तहत विभिन्न् भाषा व गतिविधियों पर बच्चों को पुन: दक्ष बनाया जा सके। इस पर प्रशिक्षण दिया गया। स्टेट रिसोर्स ग्रुप सदस्य रूखमणी सोनी व मास्टर ट्रेनर श्रीमती लक्ष्मी माल्या के द्वारा स्कूल रेडिनेश और बालवाड़ी की गतिविधियों से अवगत कराया गया। प्रशिक्षण में शासकीय बालक स्कूल सीपत कन्या स्कूल जांजी गुड़ी पोड़ी पंधी दर्राभांठा धनियां के कुल 39 शिक्षक शिक्षिकाएं प्रशिक्षित हुए।

कार्यक्रम में उपस्थित एसआरजी रूखमणी सोनी को शैक्षिक समन्वयक शिक्षक समूह द्वारा लेखनी देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर संकुल शैक्षिक समन्वयक सह मास्टर ट्रेनर प्रमोद कुमार पांडेय, श्रीकांत श्रीवास, तुलेश्वर सिंह कौशिक, रामप्रसाद साहू ,रामबाबू कर्ष, धर्मेंद्र, प्रकाश गौरहा, रमेश पटेल, मोहम्मद शहजादा उपस्थित रहे।

समन्वयक श्रीकांत श्रीवास व प्रमोद कुमार पांडेय ने कहा कि बाल्यावस्था में गुणवत्तापूर्ण प्रारंभिक शिक्षा बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए महत्वपूर्ण है। गुणवत्तापूर्ण प्रारंभिक शिक्षा के पाठ्यक्रम में खेल और गतिविधियों का संतुलन होना चाहिए जो जीवन मे सीखने की नींव तैयार करता है। अंत मे राष्ट्रगान के साथ प्रशिक्षण का समापन हुआ।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close