बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। स्कूल के छात्र-छात्राओं को पाठ्यक्रम के जटिल अध्यायों को समझाने के लिए शिक्षक आसपास में उपलब्ध कबाड़ से जुगाड़ कर शिक्षण सामग्री तैयार करेंगे। राष्ट्रीय अविष्कार अभियान के तहत शिक्षण सामग्री तैयार करने स्कूल स्तर से लेकर जिला स्तर तक मेलों का आयोजन किया जाएगा। इस प्रतियोगिता की थीम मूलभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक ज्ञान पर आधारित होगी।

प्रत्येक विकासखंड एवं जिला में प्रतियोगिता आयोजन के लिए 30-30 हजार रुपये का प्रविधान किया गया है। जिले के सभी प्राथमिक स्कूलों से प्रथम चरण में संकुल स्तर पर यह प्रतियोगिता होगी। इस दिन प्रत्येक शाला से रोचक एवं प्रभावी सहायक शिक्षण सामग्री बनाकर शिक्षक अपने संकुल में लेकर जाएंगे। संकुल में सहायक शिक्षण सामग्री की उपादेयता, अभियान सीखने में महत्वपूर्ण भूमिका, उपयोग में आसानी, रख-रखाव व लंबे समय तक उपयोग कर सकने की क्षमता समेत अन्य को ध्यान में रखते हुए उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री का चयन किया जाएगा।

द्वितीय चरण में यही प्रतियोगिता विकासखंड स्तर पर आयोजित की जाएगी। सभी संकुल से उत्कृष्ट चयनित सहायक शिक्षण सामग्री को विकासखंड स्तर पर आयोजित मेले में प्रदर्शित किया जाएगा। विकासखंड स्तर पर उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री का चयन किया जाएगा। तृतीय चरण में विकासखंड स्तर पर चयनित उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री को जिला स्तर पर आयोजित मेले में प्रदर्शित किया जाएगा। जिला स्तर के इस मेले में उत्कृष्ट सहायक शिक्षण सामग्री का चयन होगा।

ये सामग्री तैयार की जाएगी

सहायक शिक्षण सामग्री मेले में शिक्षक अलग-अलग प्रकार के नवाचारों, मूलभूत साक्षरता व संख्यात्मक ज्ञान से जुड़े अलग-अलग कौशलों को सीखने के लिए उपयोगी टीचिंग लर्निंग मटेरियल बना सकेंगे। सहायक शिक्षण सामग्री तैयार करने के लिए कुछ क्षेत्र सुझाए गए हैं। इसमें भाषा सीखने, गणित सीखने, खिलौनों के माध्यम से सीखाने, अनुभव आधारित सीखने, कठपुतली, मुखौटों का उपयोग कर सीखाने, पाकेट, बोर्ड व फ्लेश कार्ड, चित्र-कहानियां, बिग-बुक, पोस्टर के डिजाइन के लिए नमूने, डिजीटल शिक्षण सामग्री व आनलाइन सामग्री, नवाचारी बहुउपयोगी शिक्षण सामग्री तैयार की जाएगी।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close