बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। अमलाई रेलवे स्टेशन में क्षेत्रीय रेल प्रबंधक की मेमू ट्रेन की चपेट में आने से मौत के मामले की जांच जोनल हेडक्वार्टर के अधिकारी करेंगे। महाप्रबंधक के निर्देश पर बनी इस तीन सदस्यीय टीम में सीपीटीएम, सीइएलइ व सीटीई शामिल हैं। अधिकारी की टीम रविवार को घटनास्थल पहुंचेगी। वहां मेमू चालक, गार्ड, स्टेशन मास्टर से लेकर एनआइ वर्क में मौजूद कर्मचारियों का बयान दर्ज किया जाएगा।

अमलाई में गुरुवार की शाम 19:45 बजे क्षेत्रीय रेल प्रबंधक योगेंद्र सिंह भाटी की कटनी-बिलासपुर मेमू ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई थी। बूढार में उनका अंतिम संस्कार हुआ। अफसरों ने घटनास्थल का मुआयना किया और यह जानने का प्रयास करते रहे कि यह हादसा कैसे हुआ। उनके साथ रहे अफसर या अन्य कर्मचारियों को भी इसकी जानकारी नहीं है। इसलिए मामला गंभीर हो गया।

यही वजह है कि महाप्रबंधक ने तीन अधिकारियों की टीम बनाई है। शनिवार को गठित इस टीम ने जांच शुरू कर दी है। रविवार को अधिकारी अमलाई पहुंचेंगे। वे घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण करेंगे। इसके साथ ही घटना के दौरान मौके पर मौजूद हर एक कर्मचारी व अधिकारियों से पूछताछ की जाएगी। टीम को जल्द रिपोर्ट सौंपेने के निर्देश दिए गए हैं।

घटना की जांच कर लौटे रेलवे बोर्ड सदस्य

ड्यूटी के दौरान रेल अफसर की दुर्घटना में मौत की खबर रेलवे बोर्ड तक पहुंच गई। इससे वहां भी हड़कंप मचा हुआ है। इसकी जांच और जोन व मंडल के अधिकारियों से चर्चा करने के लिए मेंबर आपरेशन एंड बिजनेस डेवलपमेंट ट्रैफिक संजय कुमार मोहंती शुक्रवार को पहुंचे थे। घटनास्थल की जांच करने के अलावा महाप्रबंधक, मंडल रेल प्रबंधक समेत जोन व मंडल के उच्चाधिकारी से बात भी की। आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए गए हैं।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close