बिलासपुर। 73वां गणतंत्र पर्व जिले में गरिमामय माहौल में कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करते हुए उत्साहपूर्वक मनाया गया। मुख्य समारोह पुलिस ग्राउंड में आयोजित किया गया। लोक निर्माण, गृह, जेल, धार्मिक न्यास, धर्मस्व एवं पर्यटन के संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने ध्वजारोहण किया। पुलिस एवं नगर सेना द्वारा राष्ट्रध्वज को सलामी दी गई। मुख्य अतिथि ने शांति के प्रतीक सफेद कबूतर उड़ाए और हर्षोल्लास और उमंग के प्रतीक तिरंगे गुब्बारे आकाश में छोड़े गए।

उपाध्याय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन किया। इस अवसर मुख्य अतिथि ने नक्सल हिंसा में शहीद हुए जिले के 26 जवानों के स्वजनों को सम्मानित किया। मुख्य अतिथि उपाध्याय ने कोरोना संक्रमण काल के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वाले कोरोना वारियर्स तथा विभिन्न विभागों में कर्तव्यनिष्ठता का परिचय देने वाले 58 अधिकारियों, कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। जिनमें स्वास्थ्य विभाग, पुलिस सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी शामिल थे।

कार्यक्रम में विधायक शैलेश पांडे, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान, महापौर रामशरण यादव, पुलिस महानिरीक्षक श्री रतनलाल डांगी, कलेक्टर डा.सारांश मित्तर, पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हैरिश एस. सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी, कर्मचारी, मीडिया तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

इस बार नहीं हुआ सांस्कृतिक कार्यक्रम

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला प्रशासन ने पुलिस मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में सिर्फ ध्वजारोहण कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। बच्चों की ओर से आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम, पीटी आदि रद कर दिया गया। साथ ही सरकारी विभागों की ओर से निकाली जाने वाली झांकी भी इस बार नहीं दिखी।

पंडित सुंदरलाल शर्मा विवि में कुलपति ने किया ध्वजारोहण

पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति डाक्टर बंश गोपाल सिंह ने ध्वजारोहण किया। इस दौरान बड़ी संख्या में अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे। उन्होंने एक दूसरे को गणतंत्र दिवस की बधाई दी।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local