बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

सरकंडा के मोपका चौक में सीपत निवासी राजमिस्त्री ऑटो से उतरकर पैदल जा रहा था। तभी अचानक वह बेहोश होकर गिर पड़ा। इस बीच उसे एंबुलेंस बुलाकर सिम्स भेजा गया। वहां पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सरकंडा पुलिस के अनुसार घटना सुबह करीब 9.30 बजे मोपका चौक के पास की है। संजीवनी 108 की टीम सरकंडा थाने पहुंची और बताया कि मोपका चौक में एक व्यक्ति की अचानक मौत हो गई है। सूचना पर पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पंचनामा कार्रवाई की। इस बीच पता चला कि मृतक विशाल उर्फ सीताराम पिता जनकराम (38) सीपत का रहने वाला था। पेशे से वह राजमिस्त्री था और रोज ऑटो से काम करने के लिए बिलासपुर आना-जाना करता था। रोज की तरह वह सुबह करीब 9.30 बजे काम करने निकला था। यहां मोपका चौक में ऑटो से उतरकर वह पैदल साइड तरफ जाने के लिए निकला था। तभी चौक में अचानक बेहोश होकर वह गिर गया। उसकी हालत देखकर भीड़ जुट गई। उन्होंने इस घटना की सूचना संजीवनी 108 को दी। खबर मिलते ही एंबुलेंस वहां पहुंच गई। उसे तत्काल इलाज के लिए सिम्स ले जाया जा रहा था। लेकिन, उसकी मौत हो गई। इस पर संजीवनी के तकनीशियन ने सरकंडा थाने में सूचना दी। पुलिस ने इस घटना जानकारी मृतक के परिजन को दी। पुलिस को आशंका है कि राजमिस्त्री को अचानक अटैक आया होगा, जिससे उसकी मौत हो गई होगी। हालांकि, पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होने की बात कह रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network