बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

एमआइसी की पहली बैठक के साथ ही महापौर का कार्यकाल शुरू हो गया। निगम से संबंधित किसी भी कार्य को स्वीकृत या अस्वीकृत करने का अधिकार एमआइसी को है। यही कारण है कि पहली बैठक में निर्माण कार्यों की स्वीकृति देने के साथ ही महापौर ने गुणवत्ता को लेकर इंजीनियरों को चेतावनी भी दे दी। बाकी सदस्यों ने भी घटिया निर्माण को लेकर मामला उठाया।

मेयर रामशरण यादव ने एमआइसी की पहली बैठक निगम के दृष्टि सभाकक्ष में ली। बैठक शाम चार बजे से शुरू हुई। इसमें निर्माण कार्यों का मुद्दा छाया रहा। एमआइसी सदस्यों ने एक-एककर शहर में हो रहे घटिया निर्माण का मुद्दा उठाना शुरू कर दिया। महापौर ने पहले अधिकारियों को साथ मिलकर काम करने की बात कहते हुए पीठ थपथपाई और फिर घटिया निर्माण को लेकर चेतावनी भी दे डाली। एमआइसी के एजेंडे में प्रस्ताव क्रमांक एक से लेकर सात तक में शासन की मुख्यमंत्री पेंशन योजना, समाजिक पेंशन योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय पेंशन योजना, सुखद सहारा पेंशन योजना, राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय पेंशन योजना के लिए प्राप्त पात्र हितग्राहियों को स्वीकृति प्रदान की गई। प्रस्ताव क्रमांक आठ में सेवानिवृत्ति के बाद शासन के पत्र के अनुसार लाल बहादुर शास्त्री स्कूल की प्राचार्य डॉ. भारती तिवारी को 30 अप्रैल 2020 तक पुनर्नियुक्ति की अनुमति दी गई। इसी तरह प्रस्ताव क्रमांक आठ में राजकिशोर नगर सामुदायिक भवन के आरक्षण शुल्क व एक चौकीदार रखने की अनुमति दी गई। प्रस्ताव क्रमांक 10 में गांधी चौक से जगमल चौक तक के नाली निर्माण में अतिरिक्त स्वीकृति दी गई। प्रस्ताव क्रमांक 11 में नूतन चौक स्थित प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत निर्मित मकानों के पास सामुदायिक भवन निर्माण की स्वीकृति दी गई। इसी तरह पुराना सरकंडा पुलिस से मुक्तिधाम चौक तक बीटी सड़क नवीनीकरण और वार्ड 63 अभिषेक पांडेय के घर से जिला क्षय नियंत्रण केंद्र तक सीसी सड़क व वार्ड क्रमांक 67 में बिलासा ताल उद्यान से लेकर विजय पांडेय के घर तक सीसी सड़क निर्माण की स्वीकृति दी गई। प्रस्ताव क्रमांक 15 से 17 तक में कॉलोनी हस्तांतरण की स्वीकृति दी गई। प्रस्ताव क्रमांक 19 में निगम के अंतर्गत 300 प्लेसमेंट कर्मचारियों के लिए निविदा करने की अनुमति दी गई। बैठक में एमआइसी सदस्यों द्वारा किए गए एजेंडा से संबंधित प्रश्नों के जवाब कमिश्नर प्रभाकर पांडेय ने दिए। बैठक में एमआइसी सदस्य भरत कश्यप, विजय केशरवानी, राजेश शुक्ला, अजय यादव, सुनीता नामदेव गोयल, पुष्पेंद्र साहू, संध्या तिवारी,मनीष गढ़ेवाल, सीताराम जायसवाल, बजरंग बंजारे, परदेशी राज, अपर आयुक्त आरबी वर्मा, उपायुक्त दिलीप तिवारी, खजांची कुम्हार, निगम सचिव राजेंद्र अवस्थी उपस्थित थे।

कर वसूली पर दें ध्यान

बैठक में मेयर ने संपत्ति कर, जलकर व समेकित कर आदि की भी समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने अभी तक बहुत कम वसूली होने की बात कही। मेयर ने कहा कि वर्तमान में स्पायरो केयर कंपनी द्वारा कर की वसूली की जा रही है, लेकिन लोगों का विश्वास निजी कर्मचारियों पर नहीं होता है। इसलिए उनके साथ निगम के भी कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने और ज्यादा से ज्यादा वसूली करने के निर्देश दिए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस