बिलासपुर। तोरवा क्षेत्र में हत्या के मामले में जेल से आजीवन सजा पूरी कर लौटे युवक ने पांच दिन बाद ही गवाह के बड़े भाई को चाकू मार दिया। चाकू के हमले से घायल युवक को परिवार के सदस्य अस्पताल लेकर गए। अस्पताल में डाक्टरों ने युवक को मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पुलिस ने घेराबंदी कर अरोपित को रेलवे स्टेशन के पास पकड़ लिया। पुलिस आरोपित युवक से पूछताछ कर रही है।

अन्नपूर्णा कालोनी निवासी जितेंद्र राव घर के पास ही पान दुकान का संचालन करते हैं। मंगलवार की शाम पांच बजे उनकी दुकान में नजरलाल पारा निवासी गणेश तिवारी पहुंचा। गणेश तोरवा क्षेत्र में हुए बहुचर्चित कुंदन सिंह हत्याकांड के मामले बीते 18 फरवरी को सजा पूरी कर जेल से छूटा है। वहीं जितेंद्र का भाई मामले में गवाह था। दुकान में जितेंद्र और गणेश के बीच पुरानी बातों को लेकर बहस होने लगी। इसी बीच युवक ने जितेंद्र पर दुकान में रखे चाकू से हमला कर दिया। पेट और जांघ में हुए ताबड़तोड़ हमले से घायल जितेंद्र दुकान छोड़कर भागने लगा। वहीं हमले के बाद गणेश भी मौके से फरार हो गया। थोड़ी दूर जाकर जितेंद्र गिर गया। वहां पर पहुंचकर जितेंद्र के परिवार वालों ने घायल को अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में डाक्टरों ने जितेंद्र को मृत घोषित कर दिया।

पैरोल के दौरान जानलेवा हमले के मामले में भी आया था नाम

आरोपित गणेश जेल में भी लड़ाई झगड़े में शामिल रहता था। 2018 में बिजलीकर्मी बिसरु राम निर्मलकर पर जानलेवा हमले के मामले में भी गणेश का नाम सामने आया था। पुलिस जांच में पता चला कि गणेश ने जेल में हुए झगड़े का बदला लेने के लिए आरोपित गणेश ने बिजलीकर्मी पर हमला कराया है। मामले में पुलिस ने पांच युवकों को गिरफ्तार किया था। आरोपित के खिलाफ भी कार्रवाई की थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags