बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

ट्रेनों में चोर गिरोह सक्रिय है। सोमवार को एक बाद एक तीन अलग-अलग ट्रेनों से गहने, नकद व मोबाइल समेत सवा दो लाख रुपये का माल पार कर फरार हो गए। यात्रियों की रिपोर्ट पर जीआरपी ने अपराध दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पहली घटना रायगढ़- निजामुद्दीन गोंडवाना एक्सप्रेस की है। मंगला गीतांजलि पार्क निवासी उषा शर्मा इस ट्रेन में अकलतरा से बिलासपुर के लिए यात्रा कर रही थी। वह जनरल कोच में चढ़ रही थी। इस बीच किसी ने भीड़ का फायदा उठाते हुए पर्स के अंदर रखा छोटा पर्स को निकाल लिया। इसके अंदर एक जोड़ी झुमका, सोने का हार, एक रानी हार, एक जोडी इयर रिंग समेत तीन हजार नकद मिलाकर एक लाख 13 हजार के सामान रखे थे। ट्रेन के चढ़ने के बाद जब पर्स की ओर ध्यान गया तब चेन खुली थी। उन्होंने बिलासपुर पहुंचकर जीआरपी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। दूसरी घटना टिटलागढ़ पैसेंजर की है। छोटे मुड़पार तहसील खरसिया जिला रायगढ़ निवासी प्रेमा पटेल (39) जयरामनगर रेलवे स्टेशन से वह इस ट्रेन में चढ़ रही थी। तभी किसी ने बैग की चेन खोलकर सोने का हार, मोबाइल, 11 हजार 950 रुपये समेत लगभग 30 हजार का सामान चोरी कर लिया। महिला यात्री की रिपोर्ट पर अज्ञात चोर के खिलाफ जुर्म दर्ज किया गया है। साथ ही उसकी तलाश के लिए मैदानी अमले को तैनात किया गया। तीसरी घटना नागपुर- बिलासपुर शिवनाथ एक्सप्रेस की है। सरकंडा राजीव विहार निवासी अरुण सिंह इस ट्रेन में नागपुर से बिलासपु के लिए यात्रा कर रहे थे। उनका रिजर्वेशन बी-एक कोच में था। सफर के दौरान किसी ने उनका 50 हजार रुपये कीमती मोबाइल पार कर दिया। घटना दूसरे स्टेशन की होने के कारण जीआरपी ने जीरो में अपराध दर्ज किया है। जल्द डायरी संबंधित जीआरपी थाने को भेजी जाएगी।

महिला गिरोह पर संदेह

चेन खोलकर चोरी की इस घटना के बाद जीआरपी महिला गिरोह पर संदेह जता रही है। गिरोह की सदस्य आम यात्री बनकर बच्चों के साथ सफर करती है। इसी बीच भीड़ में घुसकर बड़ी चलाकी से इस घटना को अंजाम देकर फरार हो जाती है। पहले भी इस गिरोह के सदस्यों को पकड़ने में जीआरपी को सफलता मिल चुकी है। अब ऐसी महिलाओं को निगरानी की जा रही है। आरपीएफ की स्पेशल टीम ने कुछ महिलाओं को पकड़ा भी है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close