बिलासपुर। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने वाले किसानों को केवाईसी कराने की केंद्र सरकार ने अनिवार्यता रख दी है। इसके किसानों को केवाईसी के जरिए अपनी खुद की पहचान और जरूरी मापदंडों की जानकारी देनी होगी। जो जानकारी दी जाएगी उसके लिए उनको यह बताना भी होगा कि पूरी जानकारी उनके द्वारा दी जा रही है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनांतर्गत पंजीकृत समस्त पात्र हितग्राहियों को खाता आधारित पेमेंट को बदल कर आधार आधारित किया गया है। जिन किसानों का आधार नंबर में मोबाईल नंबर लिंक नहीं होगा उनका आगामी भुगतान लंबित होगा। कृषि विभाग द्वारा सभी पंजीकृत पात्र किसानों अपना आधार नंबर को अपने मोबाइल नंबर से 31 मई 2022 तक लिंक कराकर ई-केवाईसी कराने की अपील की है। किसान अपने क्षेत्र के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से या च्वाइस सेंटर में संपर्क कर ई-केवाईसी करा सकते हैं। किसान चाहे तो स्वयं ही पीएम किसान पोर्टल में जाकर स्वयं ई-केवाईसी कर सकते हैं।

ई-केवाईसी कराने के लिए सबसे पहले अपने मोबाइल नंबर आधार से लिंक कराना होगा। जिनका आधार नंबर आधार से लिंक नहीं है, वे आधार में मोबाइल नंबर लिंक कराने के लिए आधार लोक सेवा में अपडेट कराना होगा। मोबाइल नंबर लिंक कराने के बाद अपने मोबाइल से या च्वाइस सेंटर में जाकर पीएम किसान पोर्टल से ई-केवाईसी कराने की सुविधा दी गई है। ई-केवाईसी कराने के बाद अपने आधार को बैंक से लिंक कराना होगा। च्वाइस सेंटर से ई-केवाईसी कराने पर शासन द्वारा 15 रुपये शुल्क तय की गई है। उप संचालक कृषि ने किसानों से अपील की है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने के लिए ई-केवाईसी पूर्ण करा लें, ताकि पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ प्राप्त हो सके। अधिक जानकारी के लिए किसान ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी या विकासखंड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी या जिला कार्यालय कृषि विभाग से संपर्क कर सकते हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close