बिलासपुर। Bilaspur News: पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा में शामिल कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों का 26 सितंबर को जल संसाधन विभाग परिसर स्थित प्रार्थना सभा में जमावड़ा रहेगा। इस दौरान प्रदेश के नौ बड़े कर्मचारी संघ के प्रदेश संयोजक सहित दिग्गज पदाधिकारियों की मौजूदगी रहेगी। इनकी उपस्थिति में पुरानी पेंशन अधिकार प्राप्त करने के लिए बड़े स्तर पर कार्ययोजना बनाई जाएगी। जाहिर है कर्मचारी संघों और राज्य सरकार के बीच टकराव की स्थिति भी बनेगी।

छत्तीसगढ़ में पुरानी पेंशन बहाली के लिए शिक्षक,लिपिक,पंचायत सचिव,पटवारी,राजस्व अधिकारी, प्राध्यापक, महाविालयीन अधिकारी, स्वस्थ्य कर्मचारी, सीएसईबी सहित सभी विभाग के कर्मचारियों में एकजुटता देखी जा रही है। इस मांग को लेकर आपस में लामबंदी भी बन रही है। राज्य सरकार द्वारा जनघोषणा पत्र में किए गए वायदे के अनुसार प्रदेश में पुरानी पेंशन बहाली के लिए रणनीति बनाकर मोर्चा की गतिविधियों को तेज करने बैठक में रणनीति बनाई जाएगी व प्रमुख पदाधिकारियों से सुझाव भी मांगे जाएंगे।

ऐसी बन रही योजना

देश के अलग-अलग प्रांत में कार्यरत कर्मचारी संघ के दिग्गजों को जोड़कर पुरानी पेंशन की लड़ाई को मजबूती प्रदान करने राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा को एक बार फिर सक्रिय करने की योजना पर भी विचार किया जाएगा। छत्तीसगढ़ के दो लाख 80 हजार एनपीएस कर्मचारियांे के लिए जनघोषणा पत्र में सरकार द्वारा किया गया वादा एनपीएस के स्थान पर ओपीएस लागू करने की कार्यवाही की जाएगी के संबंध में कार्ययोजना बनाकर समस्त एनपीएस कर्मचारी को साथ लेकर ठोस रणनीति बनाने की योजना को लेकर चर्चा करेंगे।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local