बिलासपुर। तखतपुर नगर सहित थाना क्षेत्र में चोरी की मोटर साइकिल बेचने की फिराक में घुम रहे व घर से नगदी रकम चोरी करने वाले चोरों को पुलिस ने पकड़कर जेल भेज दिया।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर में हो हुए चोरियों के मामले में बिलासपुर एसपी के निर्देश एवं एसडीओपी कोटा के निर्देश में संदिग्ध लोगों के ऊपर नजर रखी जा रही थी। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली कि नगर के टिकरीपारा निवासी अमित ठाकुर पिता ललित ठाकुर मोटर साइकिल बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा है। सूचना मिलने पर पुलिस ने आरोपित अमित ठाकुर के पास से बिना नंबर की एक मोटर साइकिल जब्त की। बाइक की किसी प्रकार की कागजात आरोपित के पास नहीं था। पुलिस ने आरोपित अमित ठाकुर को रिमांड में लेकर जेल भेजदिया। वहीं एक दूसरे मामले तीन जून को अराईबंद निवासी ग्राम सोनबरसा खांडे के घर से हुए 42000 रुपये नगदी चोरी के मामले में नगर के आरोपित रिंकू ध्रुव पिता लक्ष्मी चंद्र (25) ठाकुरपारा एवं आलोक पांडेय उर्फ मुंडा पिता राम किशोर पांडेय (30) वार्ड क्रमांक चार निवासी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। चोरी के आरोपित के पास से चोरी की 5800 रुपये एवं चोरी में उपयोग की गई राड बरामद किया। पुलिस ने उक्त दोनों आरोपितों को भी रिमांड पर भेज दिया। दोनों मामले में पकड़ने की कार्रवाई में तखतपुर के थाना प्रभारी एसआर साहू के साथ संजय बरेठ, मनोज शर्मा , ओंकार सिंह, आकाश सहित अन्य का योगदान सराहनीय रहा।

नहीं लौटाई जमा राशि महिला गंभीर दशा में , लगाई गुहार

जमा राशि नहीं लौटाई। अब महिला गंभीर दशा में है। उसने राशि के लिए गुहार लगाई है। उसने बताया कि सहारा इंडिया परिवार बिलासपुर से राशि जमा की थी। नगर पंचायत बोदरी वार्ड क्रमांक एक निवासी बिसाहिन बाई (60) साल ने बतायी कि उन्होंने सहारा इंडिया में आठ साल पहले पांच लाख रुपए एमआईएस स्कीम में जमा की थी। लगभग डेढ़ साल से कुछ भी नहीं मिल रहा है। बिसाहिन ने बताया कि उसे न तो ब्याज का पैसे मिल रहे हैं न तो अधिकारी बात करते हैं । सहारा आफिस जाने पर ब्रांच मैनेजर एवं स्टाफ के द्वारा न तो उसे पैसे दिए जा रहे हैं न ही उससे अच्छे से बात की जाती है। उनके पति ने बताया कि लगभग दो माह से बिसाहिन बाई अस्पताल में भर्ती है और उन्हें पैसे की सख्त जरूरत है। उन्होंने बताया कि सहारा आफिस शिव टाकीज चौक तिवारी काम्पलेक्स बिलासपुर में स्थित है वहां के ब्रांच मैनेजर को इसकी सूचना दी लेकिन ब्रांच मैनेजर ने कोई पहल नहीं की है। इस पर बिसाहिन बाई औ उसके पति ने मदद की गुहार लगाई है। उन्होंने कहा कि उनकी जमा पांच लाख रुपए व ब्याज उन्हें दे दी जाए। बिसाहिन बाई की स्थिति बहुत ही नाजुक है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close