बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

गतौरा-जयरामनगर स्टेशन के बीच ट्रेनों की रफ्तार बढ़ने वाली है। रेल प्रशासन ने यहां ऑटो सिग्नलिंग सिस्टम लागू कर रहा है। इसके लिए नान-इंटरलाकिंग कार्य किया जाएगा। इसको पूरा करने के लिए 24 जुलाई की सुबह आठ बजे से 25 जुलाई की रात दो बजे तक 18 घंटे का ब्लॉक लिया जाएगा।

इसके लिए मेमू व पैसेंजर ट्रेनों को रद व आधे रास्ते में समाप्त करने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत 24 जुलाई को 68737/68738 रायगढ़-बिलासपुर मेमू, 68733/68734 गेवरारोड-बिलासपुर मेमू, 68731/68732 गेवरारोड-बिलासपुर मेमू रद रहेगी। इसके अलावा 58118 गोंदिया-झारसुगुड़ा पैसेंजर बिलासपुर स्टेशन तक ही चलेगी। यात्रियों को इस ट्रेन की सुविधा बिलासपुर से झारसुगुड़ा के बीच नहीं मिल पाएगी। 58204 रायपुर - गेवरारोड पैसेंजर बिलासपुर स्टेशन में समाप्त होगी। दूसरे दिन 24 व 25 जुलाई को 58203 गेवरारोड-रायपुर पैसेंजर बिलासपुर से रायपुर के लिए रवाना होगी। यह ट्रेन गेवरारोड-बिलासपुर के मध्य नहीं चलेगी। 58111 टाटानगर-इतवारी पैसेंजर झारसुगुड़ा स्टेशन तक ही चलेगी। रेलवे का मानना है कि ब्लॉक के कारण यात्रियों को भले ही 18 घंटे की परेशानी होगी। लेकिन इसके बाद परिचालन बेहद सुगम हो जाएगा। वर्तमान में ऐसे कई सेक्शन हैं जिन्हें ऑटो सिग्नलिंग सिस्टम से लैस करना है। कुछ के लिए योजना तैयार हो रही है। इस सिस्टम का एक फायदा यह है कि ट्रेनें सेक्शन में खड़ी नहीं रहती है। अभी जब तक सेक्शन क्लीयर नहीं होता, दूसरी ट्रेन प्रवेश नहीं कर पाती है। मंडल का यह पहला सेक्शन होगा जो ऑटो सिग्नलिंग सिस्टम से लैस होगा।