बिलासपुर। पिता का इलाज कराने लिए कर्ज को चुका नहीं पाने पर बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर ने शनिवार की रात अपने घर में जहर खा लिया। इससे उसकी मौत हो गई। इसकी सूचना पर सरकंडा पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया है। पुलिस स्वजन का बयान दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

सरकंडा थाना प्रभारी परिवेश तिवारी ने बताया कि बंधवापारा में रहने वाले अश्वनी जायसवाल(32) बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर थे। उन्होंने शनिवार की रात अपने घर में जहर सेवन कर लिया था। इससे उनकी मौत हो गई। स्वजन ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया है। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि तीन माह पहले उनके पिता अयोध्या प्रसाद जायसवाल से मारपीट हुई थी।

इससे उनका पैर टूट गया था। इसका इलाज कराने के लिए अश्वनी ने कुछ लोगों से कर्ज लिया था। वहीं, इस बीच उनका काम भी प्रभावित हुआ। इसके कारण वे कर्ज में डूब गए थे। पुलिस ने स्वजन का बयान भी दर्ज किया है। मामले की जांच चल रही है।


कर्ज को लेकर ही हुई थी मारपीट

मृतक अश्वनी के पिता अयोध्या प्रसाद ने मोहल्ल में रहने वाले दिलीप पांडेय से कर्ज लिया था। इसे चुका नहीं पाने पर दिलीप से उनका विवाद हुआ था। इस दौरान दिलीप ने अपने साथियों के साथ मिलकर अयोध्या की पिटाई की थी। इससे उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। उनका इलाज कराने में ही अश्वनी कर्ज में डूब गया था। उसने कर्ज मुक्त होने के लिए अपनी पत्नी इंद्राणी के जेवर तक बेच दिए थे। इसके बाद भी वे कर्ज नहीं चुका पाए।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local