बिलासपुर। उत्तर से शुष्क हवाओं के आने से प्रदेश में अब ठंड बढ़ने लगी है। वातावरण में ठंड बढ़ने के साथ पर्यटकों में खुशी है। घूमने फिरने का प्लान बना रहे हैं। प्रदेश में अभी पेंड्रारोड और अंबिकापुर सबसे ठंडा है। शुक्रवार की सुबह बिलासपुर में भी ठंड का अहसास हुआ। फिलहाल अभी दिन का अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस के आसपास है।

अपना ट्रेवल्स के संचालक आनंद कुमार की मानें तो मौसम खराब होने के कारण बीच में बुकिंग कम आने लगी थी। लेकिन अब स्थिति बदल चुकी है। मल्हार, रतनपुर, खूंटाघाट, कानन पेंडारी, मदकू दीप, कोटा सहित अमरकंटक में बड़ी संख्या में पर्यटक और श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। रविवार को भारी भीड़ रहती है। ए टू जेड ट्रेवल ऐजेंसी के संचालक आशीष यादव का कहना है कि ठंड का सीजन घूमने फिरने और मौज मस्ती का होता है।

इस सीजन में बड़ी संख्या में लोग बाहर जाते है। पिकनिक मनाने के लिए यह सही समय होता है। कोरोना महामारी के बाद इस साल पर्यटन क्षेत्र गुलजार होने की संभावना है। पर्यटकों की संख्या बढ़ने के साथ आसपास लोगों को आर्थिक स्थिति भी मजबूत होने लगी है। उनका कहना है कि सबकुछ मौसम पर निर्भर रहता है। नवंबर से फरवरी तक पर्यटकों की संख्या अधिक रहती है।

दुर्ग जिला अभी सबसे गर्म

प्रदेश में अभी दुर्ग जिला सबसे गर्म है। गुरुवार को बिलासपुर का अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वहीं रात में न्यूनतम तापमान 17.6 डिग्री दर्ज किया गया। पेंड्रारोड सबसे ठंडा जिला था। न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विज्ञान केंद्र रायपुर के मौसम विज्ञानी डा.एचपी चंद्रा के मुताबिक प्रदेश में कल से उत्तर छग में शुष्क हवाओं के आने की संभावना है। जिसके कारण प्रदेश में 26 नवंबर को मौसम मुख्यतः शुष्क रहने की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम और न्युनतम तापमान में विशेष परिवर्तन नहीं होने की संभावना है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local