बिलासपुर। गोंदिया में बिलासपुर-भगत की कोठी ट्रेन के हादसे के बाद रेलवे में हड़कंप मचा हुआ है। प्रथम दृष्टया में इस लापरवाही के लिए रेल प्रशासन ने चालक पीके सेनापति, सहायक चालक गौतम कुमार, गार्ड मनोरंजन मिश्र और लोको इंस्पेक्टर को जिम्मेदार माना है। इसे देखते हुए ही चारों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गई। यह पहली बार है, जब किसी घटना में एक साथ चार के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की है। इस कार्रवाई के बाद से सभी सकते में हैं और माना जा रहा है कि जांच के बाद जब रिपोर्ट सौंपी जाएगी, तब इससे बड़ी कार्रवाई हो सकती है। प्रथम दृष्टया यही माना जा रहा है कि मालगाड़ी को सामने देखते हुए भी चालक ने ट्रेन आगे बढ़ा दीै। यदि दूर से देखकर ट्रेन रोक देते तो शायद इतनी बड़ी दुर्घटना नहीं होती और यात्री घायल नहीं होते।

आज बनेगी जोन के अफसरों की जांच टीम

रेलवे के अनुसार घटना बड़ी है और कहीं न कहीं गंभीर लापरवाही हुई है। इसलिए इस मामले की बारीकी जांच करने का निर्णय लिया गया है। यह जांच जोन के अफसरों के द्वारा कराई जाएगी। इस पर निर्णय भी लिया जा चुका है। गुरुवार को इस घटना की जांच के लिए अफसरों की टीम बनेगी। जांच के साथ-साथ अधिकारियों को जल्द रिपोर्ट सौंपने के निर्देश भी दिए जाएंगे। इस दौरान जांच टीम द्वारा सभी का बयान लिया जाएगा।

तीन महीने में नौ घटनाएं

- एक जून को 18109 टाटा- इतवारी एक्सप्रेस का एक कोच पटरी से उतर गया।

- छह जून को बिलासपुर आरआरआइ केबिन के पास मालगाड़ी के तीन वैगन पटरी से उतर गए।

- छह जून को कोरबा सेक्शन में बालपुर में मालगाड़ी बेपटरी हो गई।

- 17 जून को तिफरा गार्ड केबिन के पास मालगाड़ी पटरी से उतर गई।

- 26 जून को 18110 इतवारी-टाटा एक्सप्रेस के बफर ऊपरी-नीचे हो गए। छह कोच काटे गए।

- 27 जून 18239 शिवनाथ एक्सप्रेस का दिव्यांग कोच पटरी से उतर गया।

- 15 जुलाई को नैला रेलवे स्टेशन के पास मालगाड़ी के चार वैगन बेपटरी हो गए।

- 11 अगस्त को रायगढ़ रेलवे स्टेशन के पास मालगाड़ी व इंजन की टक्कर, चार वैगन बेपटरी

- 17 अगस्त बिलासपुर-भगत की कोठी मालगाड़ी को टक्कर मार दी।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close