बिलासपुर। बिलासपुर- पुणे साप्ताहिक एक्सप्रेस के यात्रियों को बेवजह प्लेटफार्म पर इंतजार करना पड़ा। दरअसल यह ट्रेन सुबह 11:20 बजे रवाना होती है। लेकिन गुरुवार को दो घंटे विलंब से रवाना हुई। यात्री इंतजार करते रहे। इसके चलते यात्रियों का परेशानियों का सामना करना पड़ा। बिलासपुर- पुणे साप्ताहिक एक्सप्रेस और बिलासपुर- चेन्न्ई एक्सप्रेस एक ही रैक से चलती है। चेन्न्ई में पेंट्रीकार की सुविधा है। पर पुणे एक्सप्रेस में इसकी सुविधा इसलिए नहीं दी गई है, क्योंकि पुणे रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म की क्षमता अधिक कोच वाली ट्रेन की नहीं है।

यह भी पढ़ें: बिलासपुर के खूंटाघाट में बैरिकेड कूदकर बेस्ट वेयर में पहुंचे युवक, पुलिस ने खदेड़ा

इसके कारण कोचिंग डिपो में हर सप्ताह पेंट्रीकार को निकालने और जोड़ने की दिक्कत जाती है। हालांकि वहां के कर्मचारी समय पर इसे कर लेते हैं। पर गुरुवार को इस ट्रेन की रैक ही विलंब से कोचिंग डिपो में पहुंची। किसी भी ट्रेन की सफाई व अन्य मरम्मत कार्य को पूरा करने के लिए कोचिंग डिपो में छह घंटे का समय लगाता है। कुछ कोच में दिक्कत की बात कही जा रही थी। इन्हीं कारणों के चलते ट्रेन दो घंटे विलंब हुई। जिसका खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ा। यह ट्रेन निर्धारित समय पर छूटेगी यह जानकारी यात्रियों को दी गई थी। इसलिए सभी यात्री निर्धारित समय पर बिलासपुर रेलवे स्टेशन पहुंचकर प्लेटफार्म पर खड़े हो गए।

आमतौर पर इस समय में ट्रेन आकर खड़ी हो जाती है। लेकिन गुरुवार को यात्री पहुंच गर ट्रेन प्लेटफार्म पर आकर खड़ी नहीं हुई। इससे यात्री परेशान होने लगे और लेटलतीफी की जानकारी लेते रहे। हालांकि उन्हें बताया गया कि थोड़ी देर में ट्रेन प्लेटफार्म पर आ जाएगी। पर थोड़ी देर दो घंटे की रही। परेशान यात्री यहीं कहते रहे की रेलवे को अब यात्रियों के समय की परवाह नहीं रह गई है। ट्रेनों को समय पर न चलाकर रेलवे यात्रियों की मुसीबत बढ़ा रही है। इस संबंध में शिकायत करनी चाहिए ताकि लापरवाह अधिकारी व कर्मचारियों में सुधार आ सके।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close