बिलासपुर। यात्रियों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। सोमवार को भी ट्रेनों की लेटलतीफी जारी रही। सुबह नौ बजे पहुंचने वाली योग नगरी ऋषिकेश- पुरी उत्कल एक्सप्रेस लगभग 14 घंटे देरी से चल रही है। यह ट्रेन रात 12 बजे के बाद पहंुंचेगी। इसी तरह शालीमार से उदयपुर जाने वाली आठ घंटे विलंब है। इस ट्रेन का बिलासपुर पहुंचने का समय सुबह सात बजे हैं। वहीं इतवारी से बिलासपुर आने वाली इंटरसिटी व शिवनाथ एक्सप्रेस भी चार- चार घंटे देरी से पहुंची।

पूछताछ केंद्र में नाराजगी

सबसे ज्यादा परेशान उत्कल एक्सप्रेस के यात्री हो रहे हैं। दरअसल यह ट्रेन सुबह नौ बजे पहुंच जाती है। इसी समय को ध्यान में रखकर अधिकांश यात्री जोनल स्टेशन पहुंच गए। यहां आकर जब उन्हें पता चला कि ट्रेन रात 12 बजे के बाद पहुंचेगी, तो वह बेहद निराश हुए। हालांकि अधिकांश यात्री पुरी दर्शन करने जा रहे हैं। लेकिन कई ऐसे में है, जिन्होंने पुरी के अलावा पहले के कई शहरों में जाना है। वहां जरुरी काम है। ऐसे यात्री स्टेशन मास्टर से लेकर पूछताछ केंद्र में नाराजगी भी जाहिर करते नजर आए।

यात्री परेशान

उनका कहना था कि अब तो कोहरे का भी असर कम हो गया है। इसके बावजूद ट्रेन विलंब करने के पीछे क्या वजह है। कर्मचारियों के पास सवाल का जवाब नहीं था। इसी तरह शालीमार- उदयपुर एक्सप्रेस के यात्री भी परेशान नजर आए। सुबह नौ बजे पहंुचने वाली हावड़ा- पुणे आजाद हिंद एक्सप्रेस भी सुबह 11:40 बजे पहुंची। यह ट्रेन करीब पांच महीने से इसी तरह देर से पहुंच रही है। बीच में एक- दो परिचालन समय में सुधार हुआ था। जिसके बाद यात्री समझ रहे थे कि अब समय सुधर जाएगा, लेकिन परिचालन व्यवस्था पुराने ढर्रे पर आ चुकी है।

परिचालन प्रभावित

सबसे विड़ंबना यह भी है कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे अपने ही जोन में अपनी ट्रेनों को समय पर नहीं चला पा रहा है। इतवारी- बिलासपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस और शिवनाथ एक्सप्रेस ऐसी ट्रेन है, जो जोन की है। एक 3:30 घंटे तो दूसरी चार घंटे विलंब है। यह रोज की समस्या है। बिलासपुर रेल मंडल कहता है कि यहां से ट्रेन समय पर रवाना हो जाती है। लेकिन वापसी में किस जगह पर परिचालन प्रभावित हो रहा है यह दूसरा रेल मंडल ही जवाब दे सकता है।

Posted By: Manoj Kumar Tiwari

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close