बिलासपुर। पेंड्रा में सीख मित्रों को ब्लाक स्तर पर मास्टर ट्रेनरों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया।

जिला प्रशासन, यूनिसेफ और समर्थ चेरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा संयुक्त रूप से जिले में प्राथमिक स्कूल स्तर के बच्चों के सीखने की क्षमता में वृद्धि करने के उद्देश्य से सीख कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है। इसके लिए सीख मित्रों को ब्लाक स्तर पर मास्टर ट्रेनरों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसमें जिले के सभी 166 पंचायतों के 222 गांवों में 700 सीख मित्रों द्वारा इच्छुक ग्रामीणों और अभिभावकों के घरों में खाली कमरे-परछी में सीख केंद्रों का संचालन किया जा रहा है। इससे बच्चों को घरों और समुदाय के वातावरण में सीखाया जा रहा है। जिला सीनियर सीख समन्वयक सरस्वती यादव ने बताया कि सीख कार्यक्रम के तहत ब्लाक स्तर पर मास्टर ट्रेनरों का चयन कर सीख मित्रों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इसमें मौखिक भाषा शिक्षण, गणित शिक्षण 2, विज्ञान एवं पर्यावरण विषय के साथ ही सीख केंद्रों में पंचायत और समुदाय की सहभागिता बढ़ाने के लिए जिले के 700 सीख मित्रों को 27 बैच में प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

मातेश्वरी जगदंबा सरस्वती की पुण्यतिथि पर किया गया स्मरण

तखतपुर में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरी विश्वविद्यालय की प्रथम मुख्य प्रशासिका मातेश्वरी जगदंबा सरस्वती की 57वीं पुण्य स्मृति दिवस मनाया गया। संस्था की प्रभारी बीके ममता ने मातेश्वरी जगदंबा सरस्वती की विशेषताएं और उनके द्वारा दी हुई शिक्षाएं सुनाई। उन्होंने बताया कि सरस्वती मां बहुत गुणवान थी। उनका स्वभाव बहुत सरल था। उनके व्यवहार में मिठास थी। वे सबको मातृप्रेम देती थी। आयु में छोटी थी फिर भी उनसे बड़ी आयु वाले भी उनको मम्मा, मां कहते थे। अंत में परमात्मा को एवं जगदंबा सरस्वती को भोग लगाया गया और उन्हें याद किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से बीके निकिता, चंचल, रामकुमार सैनी , कुमुदनी, कविता मंदानी, राम प्रसाद साहू, रामाधार कश्यप, डा. संध्या कश्यप, अमित मंदानी, ईश्वरी कश्यप, उत्तम शुक्ला, जितेंद्र ठाकुर, अरुण ठाकुर, विनोद अग्रवाल सहित अनेक साधक उपस्थित हुए।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close