बिलासपुर। फर्जी रेल पास से यात्रा करने वाला गिरोह सक्रिय है। रेलवे स्टेशन स्थित आरक्षण केंद्र (पीआरएस) में इसी तरह का मामला सामने आया है। हालांकि पीआरएस कर्मचारियों की सजगता के कारण वह व्यक्ति अपने मंसूबे पर कामयाब नहीं हो सका। हालांकि चार दिन पहले इसी पास में हावड़ा-मुंबई मेल में टाटा से बिलासपुर तक यात्रा की गई है। संदेह होते ही वह आरक्षण केंद्र से फरार हो गया। इस घटना के बाद रेलवे में हड़कंप मचा हुआ है। फर्जीवाड़ा करने वाले को पकड़ने के लिए छानबीन शुरू कर दी गई है।

मामला बुधवार का है। रेलवे स्टेशन स्थित आरक्षण केंद्र में प्रतिदिन की तरह रिजर्वेशन कराने वालों की भीड़ थी। टोकन लेने के बाद नंबर आते ही संबंधित काउंटर पर रिजर्वेशन करा रहे थे। तभी काउंटर क्रमांक तीन पर एक व्यक्ति रेल यात्रा पास लेकर पहुंचा। इस पास से वह मुंबई से हावड़ा के बीच यात्रा करना चाह रहा था। काउंटर पर बैठे रेलकर्मी को यात्रा पास देखकर संदेह हुआ। लिहाजा उन्होंने सीआरएस गौरीशंकर बाटव से तस्दीक कराई तो पास फर्जी निकला।

हैरानी तो तब हुई जब जांच के दौरान यह बात सामने आई कि इस पास में चार दिसंबर को फर्जीवाड़ा करने वाला टाटा से बिलासपुर तक यात्रा कर चुका है। हालांकि यह जांच का विषय है कि टाटा में यह फर्जी पास कैसे पकड़ में नहीं आया। बिलासपुर आरक्षण केंद्र में जांच के दौरान फर्जी पास की पुष्टि हुई तो उसे पकड़ने के लिए कर्मचारी काउंटर के सामने पहुंचे, तब तक वह फरार हो चुका था। आरक्षण केंद्र से पूरे मामले की जानकारी सीआइ को दी।

इस नाम से करा रहा था रिजर्वेशन

फर्जी पास के साथ जमा किए गए रिजर्वेशन फार्म में तीन यात्रियों के नाम थे। इनमें यशवंत कुमार (35), लेलाराम साहू (37) व लेला साहू (35) शामिल हैं। जब पास ही फर्जी है तो नाम बदलकर फार्म में भरा गया होगा यही माना जा रहा है। इसके अलावा संबंधित ने अपना पदनाम टीई यानी टिकट परीक्षक डाला था। पदनाम के आधार पर संदेह जताया जा रहा है कि रेलवे कोई जानकार ही होगा।

मुहर में थी गड़बड़ी

फर्जी पास बनाने वाले ने पास में बिलासपुर सीसीआइ का मुहर लगाया था। इसमें स्पेलिंग त्रुटियां थीं। इसके चलते संदेह यकीन में बदला। वैसे भी सीसीआइ को पास जारी करने का अधिकार नहीं है।

फर्जी रेल पास से यात्रा का मामला सामने आया है। इसकी जांच शुरू कर दी गई है। जिसने भी यह फर्जीवाड़ा किया है, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पुलकित सिंघल

सीनियर डीसीएम, बिलासपुर रेल मंडल

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close