बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोचिंग डिपों में शनिवार की रात तीन बजे टिटलागढ़ पैसेंजर की खाली रैक से ट्रेन का पहिया लोड ट्रक टकरा गया। इस घटना में ट्रक के पहिए फंस गए। पर मैकेनिकल व आपरेटर विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों की तत्परता से डिपो से निकलने वाली ट्रेनें विलंब नहीं हुईं। इधर सूचना मिलने के बाद ट्रक चालक को आरपीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ रेलवे अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

घटना कोचिंग डिपो से ठीक पहले की है। बिलासपुर रेलवे स्टेशन से टिटलागढ़ पैसेंजर कोचिंग डिपो मरम्मत व सफाई के लिए जा रही थी। वाशिंग लाइन नंबर एक में शंटिंग के दौरान अचानक ट्रक क्रमांक सीजी 07 सीबी 0995 आ गया और इससे ट्रेन का पिछला हिस्सा ट्रक से टकरा गया। इससे ट्रक का पहिया लाइन के किनारे में फंस गया। जैसे ही इस घटना की जानकारी मिली। कोचिंग डिपो के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचे। हालांकि कोई बड़ा हादसा तो नहीं हुआ। लेकिन ट्रक का पहिया लाइन किनारे में फंस गया था।

इस पर आरपीएफ ने पूछताछ की, तब चालक ने अपना नाम दारा सिंह निवासी भिलाई सेक्टर -07 बताया। वह ट्रक में ट्रेन का पहिया लोड कर नागपुर से बिलासपुर लेकर आ रहा था। डिपो में पहुंचने से पहले एक रेलवे क्रांसिंग है। जो पूरी तरह असुरक्षित है। यहां बूम बंद होता है और न नहीं खुलता है। नियमानुसार एक कर्मचारी की ड्यूटी लगनी चाहिए पर रेलवे ऐसा नहीं करती। जबकि शंटिंग के जरिए ट्रेनों को यही से कोचिंग डिपो में लाया जाता है। यह घटना भी लाइन नंबर एक पर हुई।

चूंकि इस मामले में ट्रक चालक की लापरवाही थी। इसलिए चालक को तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं दूसरी फंसे ट्रक के पहियों को बाहर निकालने के अमला सुबह तक जद्दोजदह करता रहा है। सबसे अच्छी बात यह है कि इस यह ट्रेन या अन्य की मरम्मत व सफाई प्रभावित नहीं हुई।

मैकेनिकल व आपरेटर विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों ने सूझबूझ से काम लिया। इसके चलते सभी ट्रेनें समय पर मरम्मत होकर डिपो से निकलकर रेलवे स्टेशन पहुंच गई। ट्रक चालक के खिलाफ रेल अधिनियम की धारा 154 के तहत अपराध पंजीकृत कर लिया गया है।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close