बिलासपुर। इंदु चौक स्थित जमीन पर कब्जे को लेकर कांग्रेस के दो गुट आपस में उलझ गए। मारपीट के बाद दोनों पक्ष अपनी शिकायत लेकर सिविल लाइन थाने पहुंच गए। थाने में एक दूसरे पर मारपीट का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। इस पर पुलिस ने दोनों पक्ष के दस्तावेज मंगाए। मामले में किसी पक्ष के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

इंदु चौक के पास रहने वाले नंदलाल चौधरी की 2250 वर्गफुट जमीन है। जमीन में चार दुकान बना हुआ है। इसमें किराएदार रहते हैं। शनिवार की दोपहर कांग्रेस नेता तैयब हुसैन और उसके साथी जमीन पर कब्जे के लिए गए थे। इस दौरान नंदलाल के कहने पर कुछ लोगों ने तैयब हुसैन के श्रमिकों से मारपीट करते हुए उन्हें वहां से भगा दिया। मारपीट के बाद नंदलाल अपनी शिकायत लेकर सिविल लाइन थाने पहुंचे।

उन्होंने बताया कि 1999 में युसूफ मसीह से जमीन खरीदी थी। इसके बाद से जमीन के नामांतरण को लेकर विवाद चल रहा है। बाद में युसूफ मसीह के बेटों ने जमीन को अकबर खान को बेच दिया। नंदलाल ने अपने दस्तावेज की कापी सिविल लाइन सीएसपी मंजूलता बाज को सौंप दी है। इधर दूसरे पक्ष के तैयब हुसैन ने बताया कि जमीन अकबर खान के नाम पर है। इसका नामांतरण भी हो चुका है।

जमीन में चार दुकान बनी हंै। थोड़ी जगह खाली है। उस पर वे एक और दुकान बनवाना चाहते हैं। इसी को लेकर शनिवार की सुबह श्रमिक इंदु चौक गए थे। इस दौरान जरहाभाठा में रहने वाले मैडी, जमील खान और उसके साथियों ने श्रमिकों से मारपीट करते हुए धमकाया।

इंदु चौक स्थित जमीन पर कब्जे को लेकर नंदलाल चौधरी और तैयब हुसैन ने शिकायत की है। दोनों पक्ष के दस्तावेज मंगाए गए हैं। राजस्व विभाग से इसकी जांच कराई जाएगी।

मंजूलता बाज

सीएसपी सिविल लाइन

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local