बिलासपुर। गौरेला में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भेंट-मुलाकात दौरे के तहत दो नवाचार कार्यक्रम मोर आखर और स्पोर्ट्स फार डेव्हलपमेंट की शुरूआत की।

मोेर आखर कार्यक्रम गौरेला और पेंड्रा विकासखण्ड के 299 प्राथमिक शालाओं में क्रियान्वित की जाएगी, जो प्राथमिक शालाओं के बच्चों की प्रारंभिक भाषा शिक्षा में सुधार लाने, बच्चों की पढ़ने-लिखने की क्षमता को अधिक प्रभावी बनाने की पहल है। दूसरा कार्यक्रम स्पोर्ट्स फार डेव्हलपमेंट के तहत खेल के माध्यम से जिले को 543 प्राथमिक शालाओं के बच्चों को प्रायोगिक एवं व्यवहारिक पद्धति से तैयार किया जाएगा, ताकि उनमें तेजी से सीखने के कौशल के के साथ-साथ स्वास्थ्य, शारीरिक ,मानसिक विकास और जीवन शैली में सुधार लाई जा सके।

संघ ने सीएम को ज्ञापन सौंपा उप कोषालय की रखी मांग

छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ जिला इकाई के प्रतिनिधि मंडल ने गौरेला रेस्ट हाउस में मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपकर मरवाही में उप-कोषालय प्रारंभ करने की मांग की। जिलाध्यक्ष कमाल खान ने बताया है कि मरवाही में तीस लाख अड़तालिस हजार की लागत से उपकोषालय का भवन बनकर तैयार है लेकिन तहसील भवन के साथ साथ कोषालय भवन का उदघाटन नहीं होने से किसान,व्यापारी, कर्मचारी निराश है। इसी सत्र 2022-23 से कोषालय संचालित कराने की मांग की गई है। आदिवासी विकासखंड में विभागीय सेटअप में स्वीकृत नियमित डाटा एंट्री आपरेटर के पद के विरुद्ध कार्यरत संविदा डाटा एंट्री आपरेटर कर्मचारियों को संविदा नियुक्ति तिथि से नियमित की जाए। संचालक लोक शिक्षण संचालनालय इंद्रावती भवन नवा रायपुर से एकल शिक्षकीय शालाओ में रोके गए पदस्थापना के आदेश जारी कराने की मांग की गई है। आदेश जारी नहीं होने से शिक्षकों में निराशा है। विधानसभा अध्यक्ष डा. चरणदास महंत के निज सचिव द्वारा ज्योतिपुर गौरेला में स्थित कर्मचारी भवन की मरम्मत के लिए जिला खनिज न्यास निधि से राशि स्वीकृत करने के लिए जिला प्रशासन को निर्देश दिया गया था। विधायक ने भी जिला प्रशासन से चर्चा कर मरम्मत के लिए राशि स्वीकृत करने की बात कही थी लेकिन आठ माह के बाद भी राशि स्वीकृत नहीं हो पा रही है। इससे कर्मचारियों में निराशा है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close