बिलासपुर। Bilaspur Railway News: उसलापुर रेलवे फाटक बंद हुए कई साल हो गए। पर लोग अभी भी लाइन पार कर रहे हैं। इससे दुर्घटना का खतरा है। इसके बावजूद आरपीएफ कार्रवाई तो दूर मनाही तक नहीं करती। जबकि यह क्षेत्र बेहद संवेदनशील है। कई बार दुर्घटना हो चुकी है। रेलवे फाटक का खतरा देखकर ही इन्हें बंद कर रेलवे सुविधानुसार ओवरब्रिज व अंडरब्रिज का निर्माण करा रही है। हर साल दो से चार फाटक बंद किए जाते हैं। इसी के तहत उसलापुर में ओवरब्रिज का निर्माण किया गया।

यह बेहद संवेदनशील फाटक था। जब ब्रिज नहीं बना था तब ऐसा कोई दिन नहीं रहा जब जाम न लगता हो। पर ब्रिज की सुविधा उपलब्ध हो गई है। इसके बाद भी कुछ लोग ब्रिज की बजाय उसी रास्ते का उपयोग कर रहे हैं, जहां पहले फाटक हुआ करता था। लाइन के किनारे-किनारे रास्ता बना चुके हैं। जहां से प्रतिदिन 100 से अधिक लोग आवाजाही कर रहे हैं। इनमें ज्यादातर वे लोग हैं, जो लाइन उस पार ब्रिज के नीचे आसपास निवासरत है। ब्रिज से चलकर उस पार जाने में लगने वाला समय से बचने के लिए जोखिम उठा रहे हैं।

यह नजारा सुबह आठ से नौ बजे और शाम को पांच से छह बजे के बीच प्रतिदिन देखा जा सकता है। नियमानुसार आरपीएफ को इन्हें मना करना चाहिए। उनके पास कार्रवाई का भी अधिकार है। पर आरपीएफ अधिकारों का उपयोग ही नहीं करती। इसके चलते किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है। लोग पैदल के अलावा साइकिल यहां तक बाइक तक पटरी पर चढ़ाकर ले जा रहे हैं। लेकिन कार्रवाई नहीं होने के कारण लगातार पटरी पार करने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local