बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बिलासपुर से नागपुर के बीच चलने वाली तेज रफ्तार वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के सुरक्षित परिचालन को लेकर आरपीएफ जागरूकता अभियान चला रहा है। इस दौरान लोगों को समझाइश दी जा रही है कि पटरी पार करना तो दूर इसके करीब भी न जाएं और न ही मवेशियों को लेकर जाएं। इससे बड़ा हादसा हो सकता है।

वंदे भारत एक्सप्रेस के सुरक्षित परिचालन में कहीं न कहीं कठनाई आ रही है। यह समस्या उन क्षेत्रों में है, जहां रेल लाइन के पास बसाहट है। शौच से लेकर अन्य कार्यों के लिए रहवासी लाइन पार करते हैं। इसके अलावा किनारे भी चलते हैं। मवेशियों को चराने के लिए लाइन के आसपास लेकर आ जाते हैं। अक्सर मवेशियों का झुंड देखा जा सकता है। जब से ट्रेन पटरी पर आई है कुछ न कुछ घटनाएं हो रही हैं। पिछले दिनों मवेशी के चपेट में आने से ट्रेन के सामने का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया था।

अभी छुटपुट घटनाएं हो ही रही हैं, जिसे देखते हुए आरपीएफ को निर्देश दिया गया है कि वह बसाहट वाली जगहों पर जाकर जागरूकता अभियान चलाए। इसी के तहत सोमवार को जोनल स्टेशन से लगे इंद्रपुरी तारबाहर रेलवे अंडरब्रिज के आसपास रहने वाले लोगों को आरपीएफ ने समझाइश दी। उन्हें समझाया गया कि वंदे भारत एक्सप्रेस 130 किमी प्रतिघंटे की गति से चलती है। इस बीच पटरी पर कोई आ जाए, तो ट्रेन को नियंत्रण कर पाना मुश्किल होता है। इसलिए लाइन के करीब भी न जाएं। इसके साथ ही मवेशियों को भी खुला न छोड़ें। इससे जनहानि व पशुहानि दोनों का खतरा है। उन्हें इस तरह की गतिविधियों में रेलवे अधिनियम के तहत होने वाली कार्रवाई के संबंध में बताया गया।

पत्थरबाजी भी न करें

वंदे भारत के परिचालन में एक समस्या पत्थरबाजी की भी आ रही है। लगातार पत्थर मारने से शीशा क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। इसके कारण यात्री से लेकर रेल प्रशासन को भी दिक्कत होती है। ऐसा करना अपराध है। पकड़े जाने पर कार्रवाई का भी प्रविधान है। इसलिए इस तरह के अपराध न करें।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close