बिलासपुर। Vijayadashmi in Bilaspur 2021: दशहरा उत्सव के अवसर पर झूलेलाल मंदिर झूलेलाल नगर चकरभाठा के संत लाल साईं द्वारा वार्ड नंबर 12 चकरभाठा में रावण दहन व सत्संग का आयोजन किया गया। सत्संग की शुरुआत भगवान श्रीरामचंद्र की फोटो पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित कर की गई। सत्संग में संत लाल साई जी ने अपनी अमृतवाणी में एक ज्ञानवर्धक कथा बताई।

संत लाल साईं ने बताया कि एक गांव में 100 परिवार रहते थे। हर साल दशहरा के दिन रावण दहन होता था। समय बीतता गया। जो बच्चा छोटा था हर साल रावण दहन देखने जाता था। इस बार उसने सोचा कि मैं खुद रावण का पुतला बनाऊंगा और सुबह से ही रावण का पुतला बनाने में जुट गया। शाम तक रावण का पुतला बनाकर खड़ा किया। वह पल भी आ गया जब रावण का दहन होना था। जब वह व्यक्ति रावण को जलाने के लिए आगे बढ़ा तो उस पुतले से आवाज आई— रुको, मुझे जलाने से पहले मेरे एक सवाल का जवाब दो।

व्यक्ति घबरा गया और इधर— उधर देखने लगा। उसे समझ में नहीं आया कि आवाज कहां से आ रही है। जैसे ही सामने रावण के पुतले को देखा तो फिर आवाज आई कि मैं रावण बोल रहा हूं। तुम लोग हर साल दशहरे के दिन मेरा दहन करते हो पुतला बनाकर। ऐसा क्यों करते हो, मैंने क्या किया है। तब उस व्यक्ति ने कहा हे रावण तुमने माता सीता का हरण किया था जो कि घोर पाप था। इसीलिए हर साल दशहरे के दिन हम तुम्हारे पुतले का दहन हैं।

तब फिर रावण के पुतले से आवाज आई कि मैंने जो पाप किया उसकी सजा मुझे मिल गई। पर क्या तुम लोग भी पापी नहीं हो क्या, तुम लोग भी पाप नहीं करते हो। पहले अपने अंदर के जो अवगुण हैं जिससे कारण लोग पाप करते हो उसे खत्म करो फिर मेरे पुतले का दहन करो मैंने जो गलती की है वह गलती तुम लोग नहीं करो। आज मैं पुतले के दहन के साथ अपने सारे अवगुण को भी जला दो उस व्यक्ति की आंखें खुल गई और उसने हाथ जोड़कर कहा मैं आपकी बात समझ गया। आज से मैं अपने सारे अवगुण को खत्म करूंगा वह पाप नहीं करूंगा सबसे प्रेम करूंगा सत्य की राह पर चलूंगा।

इस कथा से हमें यह शिक्षा मिलती है कि दूसरों के अवगुण हम जल्दी देख लेते हैं पर अपने अवगुणों को हम देख नहीं पाते हैं। पहले अपने अवगुणों को हम दूर करें तभी हमारा भला हो सकता है। वह अपने धर्म को न भूलें हिंदू धर्म सनातन धर्म है सबसे पुराना धर्म है अपने धर्म की रक्षा करें अपने धर्म का प्रचार प्रसार करें उसे आगे बढ़ाएं।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local