बिलासपुर। राशन कार्ड से नाम कटवाने के लिए ग्रामीण खाद्य विभाग के चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन, अधिकारी नाम काटने से मना कर रहे हैं। जिससे राशन कार्ड धारियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्राम घुटकू के रहने वाले राम चरण सूर्यवंशी पिता स्व फेकू लाल 46 वर्ष की पत्नी गांव में पंच हैं। पंच प्रतिनिधि होने के कारण ग्रामीण अपनी समस्या को लेकर उनके पास पहुंचते हैं। गांव के घानापारा के रहने वाले रेखा बाई खरे की शादी हो चुकी है।

वे अपने ससुराल चली गई है। उसकी मां के नाम के राशन कार्ड में रेखा का भी नाम दर्ज है। शादी होने के कारण परिजन रखा की नाम राशन कार्ड से कटवाना चाहते हैं। गांव के ही अंजू डहरिया की शादी सकरी में हुई है। अब वह अपनी ससुराल में रहती है। अंजू के परिजन भी राशन कार्ड से नाम कटवाने के लिए आवेदन करने पहुंचे थे। जिला खाद्य अधिकारी ने राशन कार्ड से नाम काटने से मना कर दिया है। जिससे राश्ान कार्ड धारियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वे विभाग से खाली हाथ लौट गए।

ससुराल में राशन कार्ड बनवाने में हो रही परेशानी

रेखा और अंजू शादी होने के बाद अपने-अपने ससुराल में रहती है। ससुराल वाले अलग से राशन कार्ड बनवाने चाह रहे हैं। उनके आधार कार्ड नंबर पहले से मयके के राशन कार्ड में रजिस्टर्ड है। जिसके कारण नया कार्ड बनने में परेशानी हो रही है।

नया राशन कार्ड बनवाने में हो रही देरी

नया राशन कार्ड बनवाने वालों को भी कई तरह के परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आवेदन जमा करने के बाद महिनों भर चक्कर लगा रहे हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local