बिलासपुर। ट्रेन में सफर के दौरान अब यात्रियों को खानपान सुविधा में दिक्कत नहीं आएगी। बिलासपुर से गुजरने वाली पुरी- ऋषिकेश नगर उत्कल एक्सप्रेस की पेंट्रीकार में नाश्ता व खाना पकने लगा है। 30 नवंबर से कोरबा- अमृतसर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में सुविधा शुरू हो जाएगी। इसके संचालन की जिम्मेदारी पुराने लाइसेंसियों को ही दी गई। ऐसा इसलिए किया गया, क्योंकि पुराने टेंडर की अवधि अभी बची हुई है।

इस सुविधा का यात्रियों को बड़ी बेसब्री से इंतजार थी। दरअसल कोरोना संक्रमण के कारण ट्रेनों का परिचालन बंद हो गया। जब ट्रेनें पटरी पर आई, तो उसे नियमित की जगह स्पेशल ट्रेन बना दी गई। पर पेंट्रीकार में खाना पकाने की अनुमति नहीं दी गई। केवल पैकेट बंद सामान बेचने की अनुमति थी। इसके लिए अलग से टेंडर किया गया था। हालांकि इस व्यवस्था से लाइसेंसी खुश नहीं थे।

यही वजह है कि एक या दो फेरे ट्रेन चलने के बाद लाइसेंसी पेंट्रीकार संचालन से हाथ खींच ले रहे थे। पहले की तरह पेंट्रीकार की व्यवस्था सुनिश्चित करने रेलवे बोर्ड स्तर पर जद्दोजहद चल रही थी। यात्री में लगातार इसकी मांग कर रहे थे। आखिरकार बोर्ड को यह सुविधा दोबारा चालू करने का निर्णय लेना पड़ा। पिछले दिनों ही बोर्ड ने इसकी घोषणा की। इसके साथ आइआरसीटीसी को इसके लिए सूचना भी भेजी गई। पर पत्र में यह जिक्र नहीं था कि सुविधा कब से शुरू करनी है।

पर अब ट्रेनों की पेंट्रीकार में खाना पकने लगा है। उत्कल एक्सप्रेस बिलासपुर से गुजरने वाली पहली ट्रेन है, जिसमें इस सुविधा की शुरुआत हो गई है। इधर बिलासपुर आइआरसीटीसी ने जोन की ट्रेनों में इस सुविधा को शुरू करने का निर्णय लिया है। सबसे पहले छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की पेंट्रीकार में खाना बनने लगेगा। आदेशानुसार तो यह सुविधा शनिवार से ही प्रारंभ करनी थी। लेकिन छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस सप्ताह में तीन दिन चलती है। इस लिहाज से 30 नवंबर से इस ट्रेन में खाना पकने लगेगा।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close