बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

भाजपा नेता और पूर्व एल्डरमैन मनीष अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि वार्ड परिसीमन में दावा आपत्ति मंगाकर लोगों को धोखा दिया गया। हुआ वही जो अधिकारियों को ऊपर से निर्देश थे। उसी तरह का खेल अब मतदाता सूची तैयार करने और राशन कार्ड में हो रहा है। लोगों की मांगों को दरकिनार कर सरकार अपने ही नियम लोगों पर थोपने में लगी है।

सीमा विस्तार के बाद किए गए वार्ड परिसीमन को लेकर कांग्रेसी और भाजपाई दोनों ही विरोध की मुद्रा में हैं। इस पर भाजपा नेता मनीष ने कहा कि सैकड़ों की संख्या में लोगों ने निगम सीमा विस्तार नहीं करने आवेदन दिया। उसमें सरकार ने वही किया जो उन्हें करना था। इसी तरह वार्डों के बंटवारे में मनमर्जी की गई। अब राशन कार्ड और मतदाता सूची तैयार करने में भी शासन के कुछ खास लोगों की ही चल रही है। लोगों की आपत्ति व उनके आवेदन को दरकिनार कर दिया गया है। इससे आम लोग घूटन महसूस कर रहे हैं। लोगों की इच्छाओं को दबाकर अपनी मनमानी करने का नतीजा लोकसभा चुनाव में सरकार देख चुकी है। इसके बाद भी वे अपने हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। अब जनता ही इन्हें इनकी मनमर्जी चलाने की सजा देगी।