बिलासपुर। Weather Record in Bilaspur: जून का महीना चिलचिलाती धूप और गर्मी के लिए जाना जाता है। लेकिन, पिछले कुछ वर्षों में मई में ही जून सी गर्मी पड़ने लगी है। सूर्य अभी से कहर ढा रहा है। गर्मी से लोग बेचैन और परेशान हैं। बिलासपुर में घर से निकलने से पहले लोग पूरी तैयारी कर निकलते हैं। 22 मई 2017 को तापमान 49.3 डिग्री सेल्सियस था। हालांकि मौसम विभाग के रिकार्ड में यह 23 मई को दर्ज है। उस दिन देशभर में बिलासपुर में सबसे अधिक तापमान का रिकार्ड दर्ज है।

बिलासपुर के इतिहास में कभी इतनी गर्मी नहीं पड़ी थी। वर्ष 2017 हमेशा याद रहेगा। यही वजह है कि मई का महीना शुरू होते ही जेहन में तेज गर्मी का अहसास होने लगता है। आमतौर पर मई का प्रथम पखवाड़ा 38 से 42 डिग्री के बीच पारा रहता है। लेकिन, दूसरे पखवाड़े में गर्मी विराट रूप लेती है। पिछले साल 26 मई 2020 को पारा 45.8 डिग्री पहुंच गया था।

वहीं बीते 10 साल के आंकड़ो पर गौर करें तो पता चलता है कि वर्ष 2014 में 24 मई को 43.8 डिग्री तापमान था जो सबसे कम है। इसी तरह रात में न्यूनतम तापमान 21 डिग्री से ऊपर ही रहा है। वर्ष 2019 में सात मई को सर्वाधिक 24.2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। मौसम विभाग की मानें तो इस साल भी गर्मी का प्रकोप रहेगा।

11 मई से तेज गर्मी के आसार

मौसम विज्ञान केंद्र रायपुर की मानें तो प्रदेश में 11 मई से तेज गर्मी पड़ने के आसार हैं। झुलसाने वाली प्रचंड गर्मी पड़ेगी। यह सिलसिला जून तक चलेगा। राहत की बात यह है कि बीच में हवा-तूफान के साथ हल्की बारिश भी हो सकती है। प्री मानसून को लेकर 15 मई के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। बारिश को लेकर इस बार स्थिति सामान्य रहने का अनुमान है। फिलहाल अभी मौसम विभाग ने अधिकृत सूचना जारी नहीं की है।

मई में अधिकतम तापमान

वर्ष तापमान

2020 45.8

2019 46.2

2018 44.5

2017 49.3

2016 45.1

2015 46.9

2014 43.8

2013 47.4

2012 46.4

2011 44.3

हरियाली पर कुल्हाड़ी प्रमुख कारण: प्रो. चंद्राकर

सीएमडी पीजी महाविद्यालय के भूगोल विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो.पीएल चंद्राकर का कहना है कि तापमान में वृद्धि का प्रमुख कारण केवल जलवायु परिवर्तन नहीं है। और भी कई कारण हैं। शहरों का अध्ययन करें तो हमें पता चलता है कि जमीन का बदलता उपयोग भी इसकी बड़ी वजह है। दिनों दिन हरियाली कम हो रही है। धड़ल्ले से पेड़ काटे जा रहे हैं। कांक्रीटीकरण, इमारतों की बढ़ती संख्या, घर व वाहनों में एसी का इस्तेमाल तापमान की रफ्तार को बढ़ा रही है। बढ़ती जनसंख्या से हीट आइलैंड बनने की आशंका रहती है।

जून के महीने में गर्मी तेज पड़ती है। बीते 10 वर्षों में आंकड़े बता रहे हैं कि मई के दूसरे पखवाड़े में भी तेज गर्मी पड़ने लगी है। इस वर्ष भी 11 मई से गर्मी बढ़ने की संभावना है। वर्ष 2017 में बिलासपुर देशभर में सबसे अधिक गर्म जिला था।

डा.एचपी चंद्रा

मौसम विज्ञानी, मौसम विज्ञान केंद्र, लालपुर

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags